दोस्ती की मिसाल बने 2 देशों के यह बच्चे

बूंदी (10 अगस्त): राजस्थान के बूंदी से एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसने रंग और भाषा को पाटते हुए दो स्कूलों के छात्रों के बीच दोस्ती की नई इबारत लिखी है। बूंदी में सरकारी स्कूल के बच्चों का कैलिफॉर्निया के एक स्कूल के बच्चों से अनूठा रिश्ता है।

दोनों ही स्कूल के विद्यार्थी अपने किस्से और अनुभव पत्रों के माध्यम से साझा करते हैं। इस तरह से टेक्नॉलजी के इस युग में इन्होंने लेटर लिखने की परंपरा को भी जीवित रखा हुआ है। सात समंदर की दूरी होने के बावजूद वे एक दूसरे की जिंदगी में क्या हो रहा है उसे साझा करते हैं। अमेरिकी स्कूल के छात्रों ने बूंदी के बरंदन में अपने दोस्तों की मदद के लिए तीन लाख रुपए भी दोस्ती में भेजे हैं।

बरंदन स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की एक टीचर शोभा कंवर ने बताया, 'यह सिलसिला तीन साल पहले उस समय शुरू हुआ, जब कैलिफॉर्निया स्थित स्कूल के एक प्राथमिक टीचर डेविड डिक्सन बूंदी आए। उन्होंने दोनों स्कूलों के छात्रों के बीच पत्र लेखन शुरू करने का सुझाव दिया।' उन्होंने कहा कि यात्रा के कुछ महीने बाद डेविड ने अपने स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा लिखे पत्र भेजे और तभी से दोनों स्कूलों के विद्यार्थियों के बीच पत्र लेखन का सिलसिला शुरू हुआ।