पीएम के फैसले से अभिनेता अरशद वारसी नाराज, जाने कैसे जताया विरोध

मुंबई (11 नवंबर): 500 और 1000 के नोट पर पाबंदी से बाद देशभर में लोग परेशान हैं। पैसे बदलवाने और निकालने के लिए बैंक और टीएम के बाहर लंबी-लंबी लाइनें लगी है। मोदी सरकार और बीजेपी इसे भ्रष्ट्राचार, कालेधन और नकली नोट के खिलाफ बड़ी कार्रवाई बता रही है। वहीं भारी तादद में लोग पीएम मोदी के इस फैसले का समर्थन भी कर रही है। वहीं ऐसे लोगों की तादाद भी काफी है जिन्हें सरकार का ये फैसला नहीं भा रहा है।  अभिनेता अरशद वारसी ने पीएम मोदी के इस फैसले का विरोध किया है।

सोशल साइट ट्विटर पर अरशद वारसी ने ट्वीट किया है कि 'ईओडब्लू (EOW- इकॉनमिक ऑफेंसेस विंग) ने मेरे टैक्स जमाकर कमाए गए मेहनत के पैसों को मेरे बैंक अकाउंट से निकाल लिया और मैं इस बारे में कुछ नहीं कर पाया। अरशद ने आगे ट्वीट किया है कि  'मोदी जी अगर आप सच में देश में कुछ बदलाव करना चाहते हैं तो एकतरफा कानून को बदलें। क्या मुझे टैक्स चुकाने के बाद कमाई गई मेरी वाइट मनी वापस मिल सकती है?' 

अरशद यहीं नहीं रुके। उन्होंने आगे लिखा, 'एक बेईमान कंपनी को सरकार देश में व्यापार करने की इजाजत दे देती है और टैक्स भरने वाले आम लोगों को इसकी कीमत चुकानी पड़ती है। आखिर न्याय कहां है?' अरशद आगे कहते हैं, 'अगर मैं गलत हूं तो हर क्रिमिनल लॉयर को टैक्स चुकाने के बाद कमाई गई रकम EOW को देनी चाहिए, क्योंकि उन्हें वे पैसे क्रिमिनल्स से मिले हैं।' 

अरशद वारसी इस पूरे मुद्दे पर इतने ज्यादा नाराज हैं कि उन्होंने आखिर में ट्वीट कर लिखा, 'मोदी जी आप कुर्सी पर बैठकर मौज लें, लेकिन ईमानदारी से टैक्स भरने वालों को अपना पायदान बनाना बंद करें।'