बेंगलुरु की यह फर्म चांद पर भेजेगी दुनिया का पहला प्राइवेट स्पेसक्राफ्ट


नई दिल्ली ( 22 जुलाई ):  
बेंगलुरु की फर्म इंडस साल के अंत तक चांद पर दुनिया का पहला प्राइवेट स्पेसक्राफ्ट भेजने की तैयारी कर रही है। अपने लक्ष्य से यह टीम अब केवल एक कदम दूर है। पूरा होने के बाद यह क्राफ्ट एक पीएसएलवी के जरिए श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपित किया जाएगा।

एक मीडिया रिपोर्ट में फर्म की मार्केटिंग इन-चार्ज शीलिका रविशंकर ने कहा, 'हमने एक कॉलिफिकेशन मॉडल तैयार किया है। यह अगस्त के दूसरे हफ्ते में इसरो की टेस्टिंग फसलिटी में कड़ी परीक्षणों से गुजरेगा। अगला कदम एक फ्लाइट मॉडल का निर्माण होगा।' आईआईटी दिल्ली के छात्र रह चुके फर्म के संस्थापक राहुल नारायण ने चेन्नई इंटरनैशनल सेंटर में मिशन टू द मून: फ्यूल्ड बाई ऐंबिशन' सेशन के दौरान अपने प्रॉडक्ट के बारे में बताया।

राहुल की कंपनी गूगल के लूनर X प्राइज कॉम्पिटिशन के फाइनल में पहुंचने वाली 5 टीमों में से एक थी। 600 किलो यह स्पेसक्राफ्ट लगभग इसरो के लगभग 2 दर्जन रिटायर्ड वैज्ञानिकों की मदद से बना है। साथ ही करीब 100 लोगों की टीम भी इसपर काम करी है। 6 किलो के अपने रोवर- एक छोटी सी आशा- के अलावा यह स्पेसक्राफ्ट एक जापानी टीम का बनाया हुआ रोवर भी ले जाएगा। यह फ्रेंच सेपेस एजेंसी के लिए कैमरा भी ले जाएगा।