पहले अनजान से लेती थी लिफ्ट और फिर अपने कमरे में ले जाकर...

भटिंडा (23 जून): भटिंडा पुलिस ने एक ऐसे मामले का पर्दाफाश किया है, जिससे पढ़ने के बाद आप अनजान महिलाओं को लिफ्ट देने से भी कतराएंगे। खबर के अनुसार, यह महिला पहले अनजान लोगों से लिफ्ट लेती थी और फिर अपने अड्डों पर ले जाकर उन्हें पीटने के बाद रेप केस में फंसाने की धमकी देकर लाखों रुपए ऐंठती थी।

पुलिस ने गिरोह के 4 सदस्यों को गिरफ्तार कर उसने हजारों की नकदी भी बरामद की है। फिलहाल गिरोह की मास्टमाइंड महिला सहित 5 आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं। डीएसपी मान ने बताया कि कुछ दिन पहले कन्हैया लाल निवासी मुल्तानिया रोड गिरोह की सरगना कुलवंत कौर के साई नगर स्थित घर वाली गली में सीवरेज डालने का काम करवा रहा था। वहां मौजूद वीरपाल कौर उर्फ मुस्कान ने पहले साजिश के तहत कन्हैया लाल से करीबी बढ़ाई। कुछ दिनों बाद उसने कन्हैया लाल को डबवाली जाने की बात कही।

कन्हैया लाल वीरपाल कौर को डबवाली ले गया, वहां पहुंचने पर वीरपाल कौर कन्हैया लाल को एक घर में ले गई जहां पहले से मौजूद कुलवंत कौर, सुखदेव सिंह, राजवीर, संदीप कौर, सोमवीर और 2 अज्ञात व्यक्ति वहां पहुंच गए। कन्हैया लाल को बंदी बनाने के बाद उक्त गिरोह ने उसकी पहनी हुई सोने की अंगूठी व अन्य अंगूठियां छीनने के बाद तथा खाली चैक रखने के बाद उसे 50,000 रुपए लेकर आने की बात कही। कन्हैया लाल द्वारा 50,000 रुपए देने के बाद गिरोह ने उसे छोड़ा।   थाना कैनाल कालोनी प्रभारी एसआई राजेश कुमार ने बताया कि गिरोह की सरगना कुलवंत कौर सहित अन्य सदस्यों पर पहले भी धोखाधड़ी के केस दर्ज हैं। गिरोह के सदस्य पिछले कई सालों से इसी प्लानिंग के तहत लोगों को अपने घर में ले जाकर बंदी बनाने के बाद रेप केस में फंसाने का डरावा देकर रुपए ऐंठते आए हैं।