बैंकों में पैसे जमा कराने से काला धन नहीं होगा सफेद, भरना पड़ेगा टैक्स

मुंबई (7 दिसंबर): नोटबंदी के बाद से अबतक देशभर के तमाम बैंकों में 11 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा के 500 और 1000 के पुराने नोट जमा हो चुके हैं। तकरीबन 3 लाख करोड़ रुपये अब भी सिस्टम से बाहर हैं। राजस्व सचिव हंसमुख अधिया के मुताबिक यह मानना गलत होगा कि नोटबंदी के मद्देनजर जो पैसे बैंकों में आ गयी है, वह सफेद हो जाएगी। उन्होंने कहा कि वह सफेद में तब बदलेगा जब उसपर टैक्स दिया जाएगा। 

इनकम टैक्स विभाग उन सबको नोटिस भेजकर पूछताछ करेगा जो जो शक के घेरे में होंगे। राजस्व सचिव के मुताबिक काला धन रखने वाला कोई भी छोड़ा नहीं जाएगा। अगर किसी ने 50,000 रुपए भी 500 अलग-अलग लोगों से जमा करवाए हैं तो वह भी पकड़े जाएंगे। सरकार और इनकम टैक्स विभाग उन बैंक अधिकारियों के खिलाफ भी एक्शन लेगा जो काले धन को छिपाने में लोगों की मदद कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले के बाद सरकार चाहती है कि 500 और 1000 रुपए के रूप में बंद की गई सारी करेंसी बैंक में जमा हो जाए ताकी लेनदेन और कर के रूप में काले धन के जमाखोरों पर नजर रखी जा सके। 500 और 1000 रुपए के नोट में 14.17 लाख करोड़ रुपए की रकम चलन में थी। माना जा रहा था कि उनमें से 2.5 लाख करोड़ रुपए कभी फिर से सिस्टम में नहीं आएंगे। लेकिन अबतक 11 लाख करोड़ से ज्यादा रुपए बैंकों में जमा हो चुके हैं।