आपके पैन कॉर्ड का ऐसे गलत प्रयोग कर रहे हैं काले धन के 'कालिया'

जमशेदपुर (29 दिसंबर): नोटबंदी के बाद काले धन के कुबरों ने दूसरों के खातों में पैसे जमा कराकर उन्हें सफेद करने का जो काम शुरू किया, उसकी पोल अब खुलने लगी हैं। ऐसी ही एक खबर के अनुसार जमशेदपुर के दो कारोबारी के पैन नंबर पर पंजाब व राजस्थान में चार करोड़ के पुराने नोट जमा हुए हैं।

आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र स्थित इंडिगो मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड व बर्मा माइंस के कारोबारी सोहनलाल साव के पैन कार्ड नंबर पर राजस्थान व पंजाब के दो कारोबारियों ने लगभग 4 करोड़ के पुराने नोट बैंक में जमा किया है। राजस्थान में बैंक ऑफ बड़ौदा में दो करोड़, जबकि पंजाब में पंजाब नेशनल बैंक में करीब 1.75 करोड़ से अधिक राशि जमा की गई।

यह खुलासा आयकर विभाग की जांच में बुधवार को हुआ। आयकर विभाग के डिप्टी डायरेक्टर विजय कुमार ने बताया कि बड़ी राशि जमा करने पर आयकर विभाग के राजस्थान व पंजाब के अधिकारियों ने जांच के क्रम में स्थानीय अधिकारियों से सहयोग मांगा था, क्योंकि वहां के कारोबारियों ने यहां के लोगों का पैन नंबर इस्तेमाल किया है।

स्थानीय स्तर पर जांच करने पर पता चला कि शहर के दो व्यापारियों के पैन नंबर का गलत ढंग से उपयोग कर राजस्थान व पंजाब के दो अलग अलग बैंकों ने काले धन को सफेद किया है। जांच पूरी करे के बाद उन्होंने बैंक व राजस्थान और पंजाब के कारोबारियों के खिलाफ सीबीआई व प्रवर्तन निदेशालय को जांच करने के लिए मामला सौंप दिया। अब मामले में ईडी व सीबीआई आगे की कानूनी कार्रवाई करेगी।