ऐसे खातों पर है सरकार की नजर, कहीं आपने भी तो नहीं की ये गलती...

नई दिल्ली (7 सितंबर): नोटबंदी के दौरान सिर्फ बैंक खातों में 16 हजार करोड़ रुपये ही वापस नहीं आए, जिस कारण मोदी सरकार पर विपक्ष ने निशाना साधा था। अब खबर आ रही है कि सरकार ने इनकम टैक्स विभाग को निर्देश दिया है कि वे नोटबंदी के दौरान बैंकों में जमाराशि में से ब्लैकमनी का जल्द पता लगाएं।

सूत्रों के अनुसार, इनकम टैक्स को आदेश दिए गए हैं कि जो संदिग्ध खाते हैं, यानी जिनमें अचानक ज्यादा पैसा जमा किया गया या अनुमान से ज्यादा पैसा आया, उनको खंगाला जाए, ताकि ब्लैक मनी का पता लग सके।

यह आदेश पीएमओ की तरफ से आया है। इसके बाद वित्त मंत्रालय ने इनकम टैक्स विभाग को निर्देश दिया कि जिन खातों में ब्लैक मनी जमा की गई है, उनका पता लगाकर उन लोगों के खिलाफ ब्लैक मनी पर बने नए कानून के तहत कार्रवाई की जाए। सूत्रों का कहना है कि पीएमओ नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुई राशि से बेहद परेशान और हैरान है।

ब्लैक मनी दोबारा बैंकों में वापस आरबीआई ने अपनी सालाना रिपोर्ट में कहा था कि नोटबंदी के समय 500 और 1000 रुपये की पुरानी करंसी के 15.44 लाख करोड़ रुपये सिस्टम से बाहर किए गए थे, जिसमें से 15.28 लाख करोड़ रुपये तो आरबीआई के पास वापस आ गए। इसका मतलब है कि ब्लैक मनी दोबारा किसी तरह से बैंकों में वापस आ गई है।