Blog single photo

भाजपा ने दो दिन में दो बड़े फैसले लेकर दिया विपक्ष को झटका

आगामी लोसभा चुनाव में अब करीब तीन का वक्त बचा है। इसके लिए भाजपा ने अपना चुनावी अभियान को गति देना शुरू कर दिया है। दो दिन में दो बड़े फैसलों ने भाजपा को विपक्ष के मुकाबले थोड़ी राहत जरूर दी है।

Image source google

न्यूज 24 नई दिल्ली (19 फरवरी 2019)ः  आगामी लोसभा चुनाव में अब करीब तीन का वक्त बचा है। इसके लिए भाजपा ने अपना चुनावी अभियान को गति देना शुरू कर दिया है। दो दिन में दो बड़े फैसलों ने भाजपा को विपक्ष के मुकाबले थोड़ी राहत जरूर दी है। सोमवार को महाराष्ट्र में 30 पुरानी सहयोगी पार्टी शिव सेना को भी मना लिया है। लोकसभा चुनाव के लिए गठजोड़ को आखिरी रूप दे दिया है। करीब साल भर  से नाराज चल रही शिव सेना को मनाने में भाजपा कामयाब हुई है।

मंगलवार को भी भाजपा ने रणनीति आगे बढ़ाते हुए दक्षिण भारत में भी नया दोस्त तलाश लिया। डीएमके और विपक्ष से मुकाबले के लिए भाजपा ने एआईएडीएमके और पीएमके से हाथ मिलाकर विपक्षी दलों को चौंका  दिया है। तीनों दल  मिलकर तमिलनाडु में विपक्ष को कड़ी चौनोती देने की सियासी जमीन तैयार कर ली है। हालिया समय में डीएमके ने भाजपा और मोदी सरकार पर मजबूती से हमला बोला है। डीएमके सुप्रीमो स्टालिन तो राहुल गांधी को पीएम उम्मीदवार बता चुके हैं।2019 में भाजपा विपक्ष को कड़ा मुकाबला देने के लिए कोई कसर छोड़ना नहीं चाहती है।  कुछ समय पहले मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भाजपा की हार से विपक्ष के हौसले बुलंद जरूर हैं। नरेंद्र मोदी के जादू पर सवाल उठाकर विपक्षी दल हमलाबर हैं। तमिलनाडु और महाराष्ट्र में तो भाजपा ने गठबंधन कर राह आसान कर ली है, लेकिन देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा का गठबंधन भाजपा के लिए गले की फांस बना है। 2014 में भाजपा ने सहयोगियों के साथ मिलकर 80 में से यहां 73 सीटें हासिल की थीं। इन्ही सीटों ने लोकसभा में भाजपा का आंकड़ा 282 तक पहुंचा दिया। एनडीए को प्रचंड बहुमत मिला।

NEXT STORY
Top