'पाकिस्तान के खिलाफ फिर सर्जिकल स्ट्राइक'

नई दिल्ली (7 जनवरी): भारतीय सेना प्रमुख बिपिन चंद्र रावत के बयान पर रूलिंग भारतीय जनता पार्टी ने भी मुहर लगा दी है।  आतंकवाद के मुद्दे पर जीरो टालरेंस की नीति पर चलते हुए भाजपा ने पाकिस्तान को एक बार फिर आगाह किया। पार्टी ने कहा कि अगर सीमा पार से गड़बड़ हुई तो वह फिर से सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कार्रवाई हो सकती है। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दो टूक कहा है कि भारत किसी को छेड़ेगा नहीं, लेकिन किसी ने छेड़ा तो उसे छोड़ेगा नहीं।

पहले दिन के तीसरे सत्र में पार्टी का राजनीतिक प्रस्ताव राजनाथ सिंह ने पेश किया। इसका समर्थन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह व पश्चिम बंगाल के नेता व राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने किया। राजनाथ ने कहा, सर्जिकल स्ट्राइक से भारत से साफ कर दिया है कि वह कोई सहने वाला (साफ्ट) देश नहीं है। राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए मोदी सरकार की सोच व कार्रवाई पिछली सरकारों से हटकर है। सरकार नए साहसिक तरीके अपना सकती है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ अच्छे रिश्ते बनाने के प्रयास किए गए, लेकिन वह सीमापार से आतंकवाद व कश्मीर में अशांति को बढ़ावा देता रहा।