पश्चिम बंगाल: बीजेपी ने की राष्ट्रपति शासन की मांग


कोलकाता(9 जुलाई): पश्चिम बंगाल में सांप्रदायिक हिंसा के हालात के बीच बीजेपी ने राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से मिलकर राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग की। शनिवार को बीजेपी ने राज्यपाल से मांग करते हुए कहा कि केंद्र को फौरन ही राष्ट्रपति शासन लागू करना चाहिए क्योंकि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है।


- प्रदेश बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने मुलाकात के बाद कहा कि उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की और उन्हें राज्य के हालात से अवगत कराया। उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि वह राष्ट्र विरोधी तत्वों के सहयोग से कानून व्यवस्था की स्थिति को पूरी तरह से ध्वस्त करने के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार है।


- दिलीप घोष ने कहा कि हमने राज्यपाल से केंद्र सरकार से बात करने और राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की सिफारिश भेजने को कहा है। नॉर्थ 24 परगना में सांप्रदायिक झड़प और दार्जिलिंग में जारी संकट के बाद बीजेपी ने यह मांग की है। पार्टी ने यह मांग भी की है कि दंगों में प्रभावित सभी परिवारों को राज्य सरकार द्वारा मुआवजा दिया जाए। घोष ने राज्य सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया।