Blog single photo

BJP-PDP के अवसरवादी गठबंधन से कई बहादुर सैनिकों की जान गई: राहुल गांधी

जम्‍मू-कश्‍मीर में भारतीय जनता पार्टी और पीपुल्‍स डेमोक्रेटिक पार्टी का तीन साल पुराना गठबंधन आखिरकार टूट गया है। भाजपा ने महबूबा मुफ्ती सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जून): जम्‍मू-कश्‍मीर में भारतीय जनता पार्टी और पीपुल्‍स डेमोक्रेटिक पार्टी का तीन साल पुराना गठबंधन आखिरकार टूट गया है। भाजपा ने महबूबा मुफ्ती सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है।

भारतीय जनता पार्टी और पीपुल्‍स डेमोक्रेटिक पार्टी के गठबंधन टूटने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि "BJP-PDP का गठबंधन अवसरवादी था जिससे बहादुर सैनिकों और निर्दोष लोगों की जान गई. इस गंठबंधन के कारण यूपीए की सालों की मेहनत बेकार हो गई. राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद भी यहां लगातार नुक़सान ही होगा. अक्षमता, अहंकार और घृणा हमेशा विफल हो जाती है."

वहीं सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी बात रखी। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि मुफ्ती साहब ने बड़े विजन के लिए बीजेपी के साथ गठबंधन किया था। उन्होंने कहा, 'मैं बीजेपी के इस फैसले से अचंभित नहीं हूं। हमने पावर के लिए गठबंधन नहीं किया था। इस गठबंधन के कई बड़े मकसद थे। सीजफायर, पीएम का पाकिस्तान दौरा, 11 हजार युवाओं के खिलाफ केस वापस हुए।' इस दौरान मुफ्ती ने बताया कि उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है और उन्हें बताया है कि हम किसी गठबंधन की तरफ नहीं बढ़ रहे हैं। मुफ्ती ने कहा कि दोनों पार्टियों को एकसाथ काम करने के लिए माहौल बनाने में काफी समय लगा। इस गठबंधन को बड़े मकसद के साथ किया गया था। पीएम को देश भर में भारी समर्थन मिला था, ऐसे में यह जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए भी फायदेमंद हो सकता था। उन्होंने कहा, 'एक बात तो साफ है कि जम्मू-कश्मीर में सख्ती की नीति नहीं चल सकती है। यह समझना होगा कि जम्मू-कश्मीर दुश्मनों का क्षेत्र नहीं है। हमने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को साथ रखने की कोशिश की।

Tags :

NEXT STORY
Top