उपचुनाव: पालघर लोकसभा सीट पर मिली जीत का जश्न नहीं मनाएगी BJP, ये है वजह

नई दिल्ली (31 मई): पालघर लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी का खाता खुला है। बीजेपी ने पालघर सीट जीत ली है, वहीं नतीजों में शिवसेना तीसरे नंबर पर पहुंच गई है। बीजेपी के राजेंद्र गावित ने तकरीबन 29572 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है। उन्होंने शिवसेना के श्रीनिवास वनागा को हराया है। यह सीट बीजेपी सांसद चिंतामन वनागा के जनवरी में निधन के बाद से खाली हो गई थी और शिवसेना ने वनागा के बेटे ही मैदान पर उतारा था।  

वहीं हार के बाद शिवसेना ने चुनाव आयोग पर पिर निशाना साधा है। संजय राउत ने कहा है कि ये जीत बीजेपी और चुनाव आयोग की मिलीजुली जीत है।

पालघर लोकसभा उपचुनाव में मिली जीत के बाद भाजपा खुश है लेकिन वो अपनी खुशी का इजहार जश्न मनाकर नहीं करेगी, क्योंकि आज सुबह ही प्रदेश सरकार में मौजूदा कृषी मंत्री पांडुरंग फुंडकर का निधन हो गया। अपने वरिष्ठ नेता को श्रद्धांजलि देने के लिए भाजपा जश्न नहीं मनाएगी।

बता दें कि राजेंद्र गावित कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे। पालघर में जीत बीजेपी के लिए काफी अहम भी है क्योंकि 4 लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में से बीजेपी को फिलहाल अभी एक पर जीत मिली है। वहीं महाराष्ट्र की दूसरी लोकसभा सीट भंडारा गोंदिया में बीजेपी के हाथ से जाती दिख रही है। यहां एनसीपी तकरीबन 20,583 वोटों से आगे चल रही है। दोनों ही सीटें पहले बीजेपी के खाते में थीं।