मेघालय कांग्रेस में भी बगावत के आसार, सीएम ने लिखी हाई कमान को 3 पेज की चिट्ठी

नई दिल्ली (2 जून): अरुणाचल प्रदेश और उत्तराखंड के बाद अब मेघालय में भी कांग्रेस में बगावत के आसार दिखने लगे हैं। इस बीच सीएम मुकुल संगमा ने कांग्रेस हाईकमान को तीन पेज की चिट्ठी लिखी है और बताया है कि कई कांग्रेसी नेता बीजेपी के संपर्क में हैं। इनमें से कुछ ने बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव और असम के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा से मुलाकात की है।

इधर बीजेपी ने सीएम संगमा की बात को सिरे से खारिज कर दिया है। बीजेपी नेता राम माधव ने कहा कि कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं। उन्होंने कहा, 'मेघालय में बीजेपी सरकार गिराने की कोशिश कर रही है, यह कहना सरासर गलत है. कांग्रेस पार्टी को अपने घर को सुधारने की जरूरत है बजाय इसके कि दूसरों पर आरोप लगाए।'

ये चिट्ठी मोदी के शिलॉन्ग दौरे के बाद लिखा गया है। दरअसल, मोदी अपनी सरकार की दूसरी सालगिरह के मौके पर शिलॉन्‍ग गए थे। बता दें कि 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा में कांग्रेस के पास 30 विधायक हैं। एनसीपी के दो और 11 निर्दलीय विधायकों का समर्थन है।

दरअसल, असंतुष्‍ट विधायकों का आरोप है कि संगमा तानाशाह के रूप में काम कर रहे हैं और बिना पूछे फैसले ले रहे हैं। हाल ही में तुरा लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद मामला और गंभीर हो गया। इस उपचुनाव में मुकुल संगमा की पत्‍नी दिकांची डी शिरा कांग्रेस उम्‍मीदवार के रूप में मैदान में उतरी थीं। लेकिन उन्‍हें पूर्व लोकसभा स्‍पीकर पीएम संगमा के बेटे कोनराड के संगमा ने 1.92 लाख वोटों से हरा दिया। राज्‍य में यह जीत का सबसे बड़ा अंतर है।