नसीमुद्दीन ने कुछ गलत नहीं किया- मायावती

नई दिल्ली (24 जुलाई): यूपी में चल रही गाली गलौज की सियासत के बीच बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि नसीमुद्दीन ने कुछ गलत नहीं किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी और सपा पर यूपी में मिलकर माहौल खराब करने का आरोप लगाया है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि दोनों की मिलीभगत से मुझ पर एफआईआर हुई है। साथ ही उन्होंने अपने खिलाफ एफआईआर को संसद की अवमानना करार दिया। बीजेपी दलितों को लड़वाना चाहती है। वो दलितों के वोटों में सेंध लगाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए दलितों से लुभावने झूठे वादे कर रहे हैं।

मायावती ने कहा अखिलेश यादव मुझे बुआ कहते है अगर अखिलेश ने अपनी बुआ के सम्मान में दयाशंकर की गिरफ़्तारी नहीं करवाई तो हमारी सरकार बनने पर सख्त करवाई होगी। और सपा के खिलाफ भी सख्त करवाई होगी।

मायावती ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि उना में बीजेपी-आरएसएस ने दलितों को पिटवाया। इस कांड के बाद बीजेपी का दलित विरोधी चेहरा सामने आया। पीएम ने इस घटना पर कुछ नहीं कहा। कुछ नेताओं ने दलितों के घर भोजन कर के ड्रामा किया।

दयाशंकर के बहाने बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए मायावती ने कहा कि दयाशंकर से बीजेपी ने जानबूझकर बयान दिलवाया। वहीं सपा की अखिलेश सरकार पर बीजेपी से मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि दयाशंकर की 36 घंटे बाद भी गिरफ्तार नहीं किया गया।