मायावती पर BJP का पलटवार, कहा- खाते में जमा पैसा चंदा है या उसे बदला गया

नई दिल्ली ( 27 दिसंबर ): बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष के भाई और बसपा के खाते में 100 करोड़ से ज्यादा रुपये जमा किये जाने संबंधी खबरों पर मायावती की तरफ से दी गई सफाई पर बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी प्रवक्ता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस कॉनफ्रेंस कर कहा कि 'खाते में जमा पैसा चंदा है या उसे बदला गया'।

प्रसाद ने कहा कि मायावती ने खाते में जमा रकम को नहीं नकारा है। लेकिन वह कहना क्या चाह रही हैं? उन्होंने कहा कि मायावती की सफाई कई सवाल खड़े करती है। बीएसपी ने नोटबंदी का विरोध किया, क्या वजह थी? देश के दलितों का विकास होना चाहिए लेकिन दलित विकास भ्रष्टाचार का पर्याय नहीं बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि मायावती को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने से बचना चाहिए। उन्होंने सवाल उठाया कि मायावती जांच को लेकर बौखलाई हुई क्यों हैं?

गौर हो कि बीएसपी प्रमुख मायावती ने देश में नोटबंदी के बाद अपने भाई और बसपा के खाते में 100 करोड़ से ज्यादा रुपये जमा किये जाने सम्बन्धी खबरों को उनकी छवि खराब करने की केन्द्र में सत्तारूढ़ भाजपा की साजिश करार देते हुए आज दावा किया कि नोटबंदी के कारण बौखलाये भगवा दल की इस घिनौनी हरकत से बसपा को ही राजनीतिक फायदा होगा।

मायावती ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चुनावी वादाखिलाफी और नोटबंदी के कारण हो रही हार से दुखी केन्द्र की भाजपा नीत नरेन्द्र मोदी सरकार के लोग प्रशासनिक मशीनरी का दुरपयोग कर बसपा और उसके सर्वोच्च नेतृत्व की छवि खराब करने की कोशिश में लगे हैं।

गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने बसपा से संबंधित एक खाते में 104 करोड़ रूपये और पार्टी प्रमुख मायावाती के भाई आनंद के खाते में 1.43 करोड़ रूपये की भारी-भरकम राशि जमा कराए जाने का पता लगाया है। जांच और सर्वेक्षण अभियान के तहत कल यूनियन बैंक की दिल्ली स्थित करोल बाग शाखा में छानबीन के दौरान पाया गया कि नोटबंदी के बाद इन दो खातों में बड़े पैमाने पर रकम जमा कराई गई।