हुर्रियत से मुलाकात पर सरकार-संगठन अलग-अलग

नई दिल्ली (4 अगस्त): कश्मीर जाकर हुर्रियत नेताओं से बात-चीत के मुद्दे पर सरकार और संगठन में मतभेद नजर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने वार्ता के लिए हुर्रियत नेताओं को न्यौता देकर भाजपा की परेशानी और बढ़ा दी है। इस मुद्दे पर सरकार ने जहां कहा है कि सर्वदलीय प्रतिनिधिमण्डल किसी भी गुट से मुलाकात करने के लिए स्वतंत्र हैं, वहीं दल के अध्यक्ष राजनाथ सिंह सिर्फ उन्हीं लोगों या समूहों से मुलाकात करेंगे, जो संविधान के तहत समाधान के इच्छुक हैं।

राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल कश्मीर में होने वाली बातचीत के दौरान मिलने वाले सभी सुझावों और सिफारिशों की एक सूची तैयार करेगा।  राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने  हुर्रियत कांफ्रेंस सहित समाज के सभी तबकों से अपील की कि वे इस सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल से बातचीत के लिए आएं।