बीजेपी की चुनाव आयोग से गुहार, अतिसंवेदनशील राज्य घोषित हो पश्चिम बंगाल

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 मार्च): भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को चुनाव आयोग से मुलाकात की। BJP की ओर से अपील की गई है कि पश्चिम बंगाल को संवेदनशील राज्य घोषित किया जाए और उसी के तहत चुनाव कराए जाएं। बीजेपी का कहना है कि अगर ऐसे चुनाव होता है तभी निष्पक्ष चुनाव हो सकता है। BJP ने चुनाव आयोग को कुछ अफसरों की लिस्ट दी है, पार्टी का दावा है कि ये अफसर टीएमसी कैडर के रूप में काम करते हैं। इसके अलावा भाजपा की मांग है कि कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को चुनावी ड्यूटी से हटा दिया जाए। इस प्रतिनिधिमंडल में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, रविशंकर प्रसाद, कैलाश विजयवर्गीय समेत कई नेता शामिल थे। 

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में इस बार सीधी जंग बीजेपी बनाम टीएमसी होने जा रही है। बीजेपी का लक्ष्य है कि वह बंगाल में 20 से अधिक लोकसभा सीटें अपने नाम करे, ऐसे में वह आक्रामक रुख अपनाए हुए है। 

अधिकारियों से मुलाकात के बाद बाहर आए भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने मीडिया को बताया कि उन्होंने कई शिकायतें और मांगे आयोग के सामने रखी हैं। उन्होंने कहा कि हमने अपनी शिकायत में कहा है कि राज्य को अति संवेदनशील घोषित किया जाए। साथ ही पुलिस प्रशासन टीएमसी के कार्यकर्ता की तरह काम करता है इसलिए लोकसभा चुनाव शांति और निष्पक्षता के साथ हो इसलिए पैरा मिलिट्री फोर्स तैनात की जाए। साथ ही राज्य में मीडिया को भी आजादी नहीं है और इसके लिए मीडिया ऑब्जर्वर भी नियुक्त किया जाए। रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि हमने आयोग से राहुल गांधी के खिलाफ भी शिकायत की है कि वो अपने बयानों में झूठ बोलते हैं। आचार संहिता में कहा गया है कि बिना तथ्यों के कोई आरोप नहीं लगा सकते।

पिछले लंबे समय से राज्य में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) एक दूसरे पर हिंसा का आरोप लगाते रहे हैं। ममता बनर्जी और केंद्र सरकार के बीच टकराव भी देखने को मिला। वहीं, राज्य में अमित शाह की यात्रा पर रोक लगा दी गई थी। साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हेलीकॉप्टर पर राज्य में रोक लगाई गई थी।