पद्मावती पर गडकरी ने तोड़ी चुप्पी, कहा- इतिहास से छेड़छाड़ सही नहीं

  नई दिल्ली (17 नवंबर): फिल्म पद्मावती को लेकर पहली बार बीजेपी की तरफ से किसी बड़े नेता का बयान सामने आया है। सड़क-परिवहन मंत्री गडकरी ने पद्मावती मामले में चुप्पी तोड़ते हुए ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ पर नाराजगी जताई है।

गडकरी फिल्म पद्मावती को लेकर करणी सेना और राजपूतों के प्रतिनिधियों के पक्ष में खड़े दिख रहे हैं। एक टीवी कॉन्क्लेव में इस संबंध में पूछे जाने पर गडकरी ने कहा है कि लोगों को नाराज होने का अधिकार है। उन्होंने कहा कि 'फिल्म निर्माताओं को ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए।

उन्होंने आगे यह भी जोड़ा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार सर्वोच्च नहीं होता। पद्मिनी हमारे इतिहास का हिस्सा हैं और फिल्म निर्माताओं को संवेदनशीलता बनाए रखनी चाहिए।' बीजेपी का यह रुख तब सामने आया है जब भगवा ब्रिगेड ने इस संबंध में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की एक कविता ढूंढ निकाली है और यूपी की योगी सरकार भी कह चुकी है कि फिल्म से भावनाएं भड़क सकती हैं।

बीजेपी के कई विधायक संजय लीला भंसाली की इस फिल्म का विरोध कर रहे हैं। बीजेपी की गुजरात यूनिट ने भी मांग की है कि फिल्म की रिलीज को चुनावों तक टाला जाए।