3 दिन में 2 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या, बीजेपी ने राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग को लिखी चिट्ठी

नई दिल्ली (2 जून): पश्चिम बंगाल में एक और बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या का मामला सामने आया है। पुरुलिया जिले के बलरामपुर में दुलाल कुमार नाम के बीजेपी कार्यकर्ता का शव बिजली के खंभे से लटका मिला है। पुरुलिया में तीन दिन में ये दूसरे बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या का मामला है।तीन दिन पहले बलरामपुर में ही त्रिलोचन महतो नाम के बीजेपी कार्यकर्ता का शव पेड़ से लटका हुआ मिला था। इस मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट भी तलब की है। वहीं बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग को चिट्ठी लिखकर बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की जांच की मांग की। ममता सरकार ने त्रिलोचन माहतो की हत्या के मामले की जांच सीआईडी को सौंप दी है।वहीं बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्याओं को लेकर पश्चिम बंगाल की राजनीति भी गर्मा गई है। बीजेपी ने तृणमूल कांग्रेस पर राजनीतिक हिंसा का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने भी मामले की जांच के बाद गुनहगारों पर सख्त कार्रवाई की बात की है।एक तरफ जहां बीजेपी तृणमूल कांग्रेस पर हत्या करवाने का आरोप लगा रही है तो वहीं टीएमसी इस मामले में बीजेपी से लेकर नक्सलियों तक पर सवालिया निशान खड़ा कर रही है। टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट किया है कि हम इस हत्या की कड़ी निंदा करते हैं। गुनहगारों को सज़ा मिलनी चाहिए। झारखंड बॉर्डर की इस मामले में क्या भूमिका है? बजरंग दल, नक्सली और बीजेपी के कौन से तत्व इसमें शामिल हैं? जांच से सच सामने आने दीजिए।