गुजरात बीजेपी की मांग, बैन हो फिल्म 'पद्मावती'

नई दिल्ली ( 2 नवंबर ): निर्देशक संजय लीला भंसाली की आने वाली फिल्म 'पद्मावती' से विवादों के बादल छंटने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। राजस्थान के बाद 'पद्मावती' का विवाद अब गुजरात पहुंच गया है। गुजरात में 'पद्मावती' पर चुनाव का ग्रहण लग सकता है। दिग्गज नेता शंकर सिंह वाघेला के बाद अब भारतीय जनता पार्टी ने फिल्म को लेकर सवाल खड़े किए हैं।

गुजरात में बीजेपी ने क्षत्रीय समाज के विरोध के चलते फिल्म को बैन करने की मांग की है। आपको बता दें कि पिछले कुछ समय से क्षत्रीय समाज के लोग 'पद्मावती' को लेकर विरोध कर रहे हैं। इन लोगों को गुजरात बीजेपी के क्षत्रीय नेताओं का साथ मिला है।

गुजरात भाजपा ने संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का भी विरोध किया और कहा कि इस फिल्म में रानी पद्मावती और अल्ला ऊ दिन खिलजी के सबंध को गलत तरीके से दिखाया है। गुजरात भाजपा इस मामले में चुनाव आयोग को भी पत्र लिखकर गुजरात में फिल्म की रिलीज पर पाबंदी की मांग करेगी। 

इन नेताओं का मानना है कि भंसाली की फिल्म में 'पद्मावती' की बात को गलत तरीके से रखा गया है। इसी के आधार पर बीजेपी ने सेंसर बोर्ड और केंद्र सरकार से फिल्म को बैन करने की मांग की है।

महाराष्ट्र में भी फिल्म पर बैन की मांग उठी है। पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल ने 'पद्मावती' को बैन करने की मांग की है। जयकुमार का कहना है कि राज्य सरकार सेंसर बोर्ड को फिल्म बैन करने के लिए चिट्ठी लिखेगी।

मीडिया से बात करते हुए जयकुमार रावल ने कहा, ''हम रावल रत्न सिहं के वंशज हैं, इस फिल्म में इतिहास और ऐतिहासिक संदर्भों को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है। मैंने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से इस बारे में बात की है। कोई इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने की स्वतंत्रता नहीं ले सकता।''

गौरतलब है कि संजय लीला भंसाली की फिल्म में रानी पद्मावती का किरदार दीपिका पादुकोण, निभा रही हैं। वहीं रावल रत्न सिंह के किरदार में शाहिद कपूर और अलाउद्दीन खिलजी के किरदार में रनवीर सिंह नजर आएंगे। फिल्म एक दिसंबर को रिलीज होगी।