हंगामे के भेंट चढा संसद का शीतकालीन सत्र, ये सांसद लौटाएगा सैलरी

नई दिल्ली(18 दिसंबर): संसद का शीतकालीन सत्र हंगामे के भेंट चढने के बाद बीजू जनता दल के सांसद बैजयंत पांडा ने बाकी सांसदों के लिए एक मिसाल पेश की है। पांडा ने कहा है कि वे संसद के नहीं चलने से समय का नुकसान हुआ है, इसलिए वे अपना वे अपना वेतन नहीं लेंगे।

- बैजयंत पांडा ने ट्वीट करते हुए कहा है कि संसद ना चलने से जो समय का नुकसान हुआ है उसके मद्देनजर मैं हमेशा की तरह अपने वेतन को लौटाने की पेशकश करता हूं।

- उन्होंने आगे कहा कि पिछले 4-5 साल से जब भी लोकसभा में समय की बर्बादी होती है मैं सत्र के अंत अपना वेतन भत्ता लौटाता आ रहा हूं।'

- उनके इस ट्वीट को 2300 लोगों ने रिट्विट किया है जबकि 2800 लोगों ने लाइक किया है।

- बता दें कि लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा था कि संसद के शीतकालीन सत्र में हंगामे की वजह से 91 घंटे 59 मिनट बर्बाद हुए हैं। वहीं संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार की मानें तो शीतकालीन सत्र में राज्यसभा में 21 फीसदी कामकाज हुआ जबकि लोकसभा में 17 फीसदी काम हुआ।