खुलने वाले हैं केदारनाथ के कपाट...

नई दिल्ली (8 मई): आज केदारनाथ मंदिर में बाबा केदार की डोली पहुंच रही है। विधि विधान से पूजा अर्चना के बाद बाबा केदार को मंदिर में स्थापित किया जाएगा। कल से भगवान केदार के दिव्य दर्शन भक्तों को होंगे।

महादेव के दर्शन के लिए फिर बाबा केदार के जयघोष की गूंज से हिमालय के कण कण में भक्ति का माहौल बन गया है। ओंकारश्वर से रवाना हुई डोली आज केदारनाथ मंदिर पहुंचेगी और 9 मई को खुलेंगे केदारनाथ के कपाट, कपाट खुलते ही भक्तों को बाबा केदार दर्शन देंगे। 

करीब दो साल पहले केदारघाटी में मौत का तांडव था। केदारनाथ घाटी में आई थी ऐसी प्रलय जिसने सबको झकझोर कर रख दिया। हजारों की संख्या में भक्त प्राकृतिक आपदा की चपेट में आ गए थे। लेकिन, वक्त के मरहम ने पुराने जख्मों को भर दिया है। जिस केदारघाटी में मौत का महा तांडव हुआ था। अब एक बार फिर उसी केदारनाथ घाटी में महादेव के दर्शन के लिए लोगों में काफी उत्साह है।

दो साल के बाद केदारनाथ की तस्वीर बदल चुकी है। लोग एक बार फिर बाबा केदारनाथ के दर्शन के लिए चल पड़े हैं। 2013 में जब महाप्रलय आया था तो ऐसा लग रहा था। मानों सालों तक बाबा केदारनाथ के दर्शन नहीं हो सकेंगें। लेकिन तबाही के निशानों को भुलाकर भक्तों ने बाबा की डोली कभी रुकने नहीं दी। 

अनादि काल से चली आ रही परम्पराओं के साथ भगवान केदार की डोली को उखी मठ के ओंकारेश्वर मंदिर से केदारनाथ के लिए रवाना हुई। शुक्रवार को छह माह तक ओंकारेश्वर मंदिर में प्रवास करने के बाद ठीक दस बजे तक बाबा केदार की डोली हिमालय के रवाना हुई। डोली को पहले पुष्पों से सजाया गया। 

बाबा की डोली के दर्शन करने के लिये देश-विदेश से हजारों की संख्या में मंदिर में पहुंच चुके थे। डोली की आरती उतारने के बाद डोली ने ओंकारेश्वर मंदिर की एक परिक्रमा की और इसके बाद केदार धाम के लिये रवाना हुई। 

आज बाबा की डोली केदारपुरी पहुंचेगी और कल सुबह 7 बजे  6 महीने के लिये बाबा केदार के कपाट खोल दिये जाएंगे। 9 मई को भगवान गद्दी पर विराजमान होकर भक्तों को दर्शन देंगे। अगले छह महीने तक केदारनाथ मंदिर के कपाट दर्शनों के लिए खुले रहेगें। 9 मई से अगले 6 महीने तक भक्त भगवान केदार के दर्शन करते रहेंगे।