अण्डे छिल्के और टमाटर से बनेंगे कार-बाइक के टायर !

नई दिल्ली (8 मार्च): अब कार, बाइक के टायर ब्लैक कार्बन और पेट्रोलियम पदार्थों से नहीं बल्कि टमाटर और अण्डे के छिलकों से बनाये जा सकेंगें। शोधकर्ताओं ने पेट्रोलियम उत्पाद से बने पदार्थ की जगह टमाटर के छिलके और अंडे के खोल से टायर के निर्माण का नया तरीका विकसित किया है। अमेरिका में ओहियो स्टेट यूनिविर्सिटी के शोधकर्ताओं ने ऐसे खाद्य पदार्थों की खोज की है जो टायर के निर्माण में एक सदी से अधिक समय से इस्तेमाल किये जा रहे पेट्रोलियम उत्पादों से बने पदार्थ की जगह ले सकता है।

 शोधकर्ता कटरीना कॉर्निश के अनुसार, नयी तकनीक से रबर उत्पादों का निर्माण और अधिक टिकाउ होगा। कॉर्निश ने टायर के निर्माण के लिए पेट्रोलियम उत्पादों से बने पदार्थ, कार्बन ब्लैक की जगह टमाटर के छिलके और अंडे के खोल के इस्तेमाल का नया तरीका विकसित किया है।वाहन के एक टायर में करीब 30 फीसदी कार्बन ब्लैक मौजूद होता है और यही वजह है कि टायर का रंग काला होता है और पेट्रोलियम की कीमत में वृद्धि के साथ इसकी कीमत भी बढ़ जाती है। उन्होंने कहा, टायर उद्योग बहुत तेजी से बढ़ रहा है और इसके लिए हमें सिर्फ अधिक प्राकृतिक रबर की ही आवश्यकता नहीं होती बल्कि पेट्रोलियम के अधिक उत्पादों की भी जरूरत होती है।