2.65 करोड़ रुपए की शराब पर चला बुलडोजर, छत पर चढ़कर देखते रहे लोग


हाजीपुर(11 मई): वैशाली पुलिस ने भी बुधवार को सदर थाना स्थित पुलिस लाइन में 17430.24 लीटर अंग्रेजी शराब की बोतलों पर बुलडोजर चला कर उसे नष्ट किया। दिग्घीकला स्थित पुलिस लाइन में इसकी तैयारी बुधवार सुबह 7 बजे से ही की जा रही थी। आकलन के अनुसार नष्ट की गई अंग्रेजी शराब की कीमत 2.65 करोड़ रुपए बताई जा रही है। जिसे डीएम, एसपी के साथ कई पदाधिकारियों की निगरानी में बुलडोजर चलाकर नष्ट कर दी गई।


बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पिछले साल अप्रैल में ही पूरे राज्य में शराब बंदी का फैसला लिया था। इसके लिए उन्होंने बिहार उत्पाद (संशोधित) अधिनियम 2016 को बिहार विधानमंडल ने सर्वसम्मति से पारित किया। जिले राज्यपाल ने तत्काल मंजूरी दी। इसके बाद मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक ने इस पर मुहर लगाकर इसे कानूनी जामा पहना दिया। कैबिनेट से मंजूरी के बाद मद्य निषेद्य विभाग ने अधिसूचना जारी की और विधेयक कानून बन गया। नए कानून के तहत 5 अप्रैल 2016 से पूरे राज्य में शराब की खरीदी और बिक्री पर रोक लग गया। इसके बाद राज्य के सभी जिलो की पुलिस ने अभियान चलाकर अवैध रूप से बिक रही शराब को जब्त करना प्रारंभ कर दिया।


डीएम रचना पाटिल के आदेशानुसार जिले के सात थानों को उनके द्वारा पकड़ी गई बड़ी खेप को बुधवार की सुबह नष्ट करने के लिए कहा गया। इसके तहत नगर, सदर, सराय, भगवानपुर, गंगाब्रिज, वैशाली थाना और महुआ थानेदारों द्वारा पकड़े गए शराब की बड़ी को पुलिस लाइन लाया गया।


प्रदेश में शराबबंदी लागू होने के बाद इस कानून को सख्ती से लागू किए जाने की जिम्मेवारी पुलिस एवं उत्पाद विभाग को सौंपी गई। पुलिस व उत्पाद विभाग द्वारा बीते 13 माह में अवैध रूप से शराब का कारोबार करने वालों के खिलाफ तेज अभियान चलाया गया। अभियान के दौरान करीब 6 करोड़ मूल्य की 48 हजार 690 लीटर देशी-विदेशी शराब पकड़ी गई।


बुधवार को पुलिस लाइन में शराब निरस्तीकरण के दौरान उत्पाद अधीक्षक अरविंद कुमार ने बताया कि 10-15 दिनों के भीतर विभाग द्वारा जप्त शराब को भी नष्ट किया जाएगा। इसके लिए समय और स्थान का चयन किया जा रहा है। वहीं, एसपी राकेश कुमार ने कहा कि शराबबंदी के बाद जब्त शराब को नष्ट करना बेहद जरूरी था। इसी क्रम में जिले के सात थानों में जब्त बड़ी खेप को आज नष्ट किया गया है। आगे भी इस तरह की कार्यवाई जारी रहेगी।

उधर, कटिहार के कदवा में उस समय एक भयंकर हादसा होते टला जब शराब नष्ट करने के दौरान विस्फोट हो गया। शराब को नष्ट करने के लिए उसमें आग लगा दी गई। हालांकि शराब नष्ट करने में लगे कई पुलिस कर्मी और अन्य बच गए। 611 लीटर देशी-विदेशी शराब कुएं में डालकर आग लगा दी गई। जैसे ही आग लगी जबरदस्त विस्फोट हुआ।