BREAKING: बिहार में खुले में शौच करने वालों की अब निगरानी नहीं करेंगे शिक्षक

पटना (23 नवंबर): भारी विरोध के बीच बिहार सरकार ने अपने उस तुगलकी फरमान को वापस ले लिया है जिसमें खुले में शौच करने वालों की निगरानी करने के लिए शिक्षकों से कहा गया था। भारी विरोध और किरकिरी के बाद सरकार ने शिक्षकों से ये जिम्मेदारी वापस ले ली है।

इससे पहले नीतीश सरकार ने फरमान निकाला था कि शिक्षक शैक्षणिक कार्यों के अलावा सुबह और शाम एक एक घंटे इस बात को निगरानी रखेंगे कि कोई खुले में शौच नहीं जा रहा है और कोई व्यक्ति खुले में शौच करते पाया जाता है तब उसकी फोटोग्राफ़ी भी करना होगा।

सरकार के इस फरमान के बाद शिक्षक संगठनों का कहना था कि 'वे खुले में शौच के खिलाफ अभियान का समर्थन करते हैं, लेकिन ताजा आदेश शिक्षकों को खतरे में डालने के अलावा उनके सम्मान पर भी गहरी चोट करता है।