बिना बैंड, बाजा, बारात और भोज के होगी उपमुख्यमंत्री सुशली मोदी के बेटे की शादी

नई दिल्ली ( 3 दिसंबर ): बिहार में इन दिनों बिना दहजे की शादियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसी कड़ी में आज उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी के बेटे उत्‍कर्ष मोदी की शादी सादगी भरे माहौल में होने जा रही है। इसमें देशभर से कई गणमान्‍य शामिल होंगे। इसे लेकर पटना में सुरक्षा व्‍यवस्‍था कड़ी कर दी गई है।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के बेटे उत्कर्ष तथागत और कोलकाता निवासी नवलजी केदारनाथ जी वर्मा की बेटी यामिनी की शादी रविवार को अपराह्न 3 से 5 बजे के बीच वेटनरी कॉलेज मैदान में बिना दहेज, बैंड-बाजा, बारात, नाच-गाने और भोज के होगी। 

आमंत्रित अतिथियों में कई राज्यों के राज्यपाल, केंद्रीय मंत्री, बिहार सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, विधानसभा के अध्यक्ष, विधान परिषद के उपसभापति, राज्य सरकार के मंत्री शादी समारोह में शामिल होंगे। 

शादी समारोह में भाग लेने वाले गणमान्य अतिथियों में बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी, गोवा की श्रीमती मृदुला सिन्हा और मेघालय के गंगा प्रसाद, केंद्रीय मंत्रियों में वित्तमंत्री अरुण जेटली, उपभोक्ता व सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान, कानून व आइटी मंत्री रविशंकर प्रसाद, कृषि मंत्री राधामोहन सिंह, स्वास्थ्य मंत्री जयप्रकाश नड्डा, रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनन्त कुमार, पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, साइंस एंड टेक्नोलॉजी मंत्री हर्ष वर्धन, वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला, सूक्ष्म लघु व मध्यम उद्योग मंत्री गिरिराज सिंह, खाद्य व प्रसंस्करण राज्यमंत्री श्रीमती साध्वी निरंजना ज्योति, मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री उपेन्द्र कुशवाहा, ग्रामीण विकास राज्यमंत्री राम कृपाल यादव होंगे।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास, मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, छत्तीसगढ़ के सीएम रमण सिंह, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, उत्तराखंड के सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत व उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी विवाह समारोह में उपस्थित रहेंगे।

सुशील मोदी ने बेटे की शादी के लिए कोई कार्ड नहीं छपाया है। ई-कार्ड से निमंत्रण भेजा गया है। पहले से ही घोषणा कर दी गई है कि यह दहेज रहित शादी है। अतिथियों को किसी भी तरह का गिफ्ट लाने की मनाही की गई है। आमंत्रित अतिथि दधीचि देहदान समिति और मां वैष्णव देवी सेवा समिति के स्टॉल पर चक्षुदान, अंगदान तथा बाल विवाह निषेध व दहेज रहित शादी का संकल्पपत्र भर सकेंगे। आमंत्रितों को 4-4 लड्डू प्रसाद स्वरूप तथा पाणिग्रहण संस्कार की पुस्तिका भेंट स्वरूप दी जाएगी। आमंत्रितों के लिए समारोह स्थल पर चाय-पानी की व्यवस्था रहेगी।