5वीं के स्टूडेंट की भावुक चिट्ठी पर पीएम मोदी ने लिया संज्ञान

नई दिल्ली(3 नवंबर): बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मुरौल डिविजन के सांभा गांव के रहने वाले अरविंद कुमार के बेटे 5वीं क्लास के स्टूडेंट दिव्यांशु ने अपनी कॉपी पर पेंसिल से टूटी-फूटी अंग्रेजी में सीधे पीएम मोदी को लेटर लिखा। स्टूडेंट के भावुक चिट्ठी को पीएम ने गंभीरता से लिया। उन्होंने सीबीएसई के सेक्रेटरी को लेटर की फोटो कॉपी के साथ स्टूडेंट के इच्छा के मुताबिक डीएवी स्कूल, मालीघाट में नॉमिनेशन कराने का ऑर्डर दिया।

पीएमओ से मिले लेटर की जानकारी देते हुए सीबीएसई के डिप्टी सेक्रेटरी ने डीएवी, मालीघाट के प्रिंसिपल को लेटर भेजकर स्टूडेंट का नॉमिनेशन अगले सेशन में करते हुए इसकी जानकारी मांगी है।

- स्कूल के प्रिंसिपल जयश्री अशोकन ने स्टूडेंट के पिता अरविंद कुमार को टेलीफोन से मामले की जानकारी दी है। साथ ही उन्हें 9 नवंबर को जरूरी कागजात के साथ स्कूल आने को कहा है।

- उन्होंने उनसे स्टूडेंट के लिए अन्य जानकारी भी मांगी है। ताकि, उसकी पढ़ाई में कोई बाधा न आए।

छात्र ने किया लिखा था...

“रेस्पेक्टेड पीएम सर...। मेरा नाम दिव्यांशु है, मेरे पिता का नाम अरविंद कुमार है। पिताजी पीएचडी करने के बाद भी बेरोजगार हैं। दादाजी टीटीई पद से रिटायर्ड होने के बाद से कैंसर रोग से पीड़ित हैं। मैं अच्छी एजुकेशन लेकर डॉक्टर बनना चाहता हूं। कृपया, मेरा नॉमिनेशन डीएवी स्कूल, मालीघाट, मुजफ्फरपुर में करा दें, ताकि मैं डॉक्टर बन सकूं।’ बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मुरौल डिविजन के सांभा गांव के रहने वाले अरविंद कुमार के बेटे 5वीं क्लास के स्टूडेंट दिव्यांशु ने अपनी कॉपी पर पेंसिल से टूटी-फूटी अंग्रेजी में सीधे पीएम मोदी को लेटर लिखा। 

- दिव्यांशु ने लेटर में पूरी जानकारी के साथ-साथ गांव से लेकर, पोस्ट, डिविजन, जिला व राज्य की जानकारी देते हुए अपने पिता के मोबाइल नंबर का भी उल्लेख किया है।