VIDEO: पुलिस ने 'अतिथि' को बना दिया 'आतंकी'


अमिताभ ओझा, पटना (6 अगस्त):
बिहार पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है। यहां पर पुलिस ने एक विदेशी मेहमान को ऐसे गुनाह की सजा दे दी जो उसने किया ही नहीं। विदेशी मेहमान के पास मोबाइल में मोजूद वीडियो गेम को आतंक का सबूत मान लिया। ये विदेशी नागरिक नेपाल में भूकंप पीड़ितों की मदद के लिए आया था, लेकिन गलती से भारत की सीमा में घुस गया।

13 महीने सीतामढ़ी की जेल में बिताने के बाद फदी फदल अब जमानत पर बाहर है। 13 महीने पहले ये नेपाल से गलती से भारत की सीमा में घुस गया था। यहां उसने पुलिस से मदद मांगी, लेकिन पुलिस ने मदद करने की बजाय उसे जेल में ठूस में दिया। फदी फदल के मुताबिक पुलिस ने उसे आतंकवादी घोषित कर दिया था। उसपर क्रिमिनल कॉन्सपेरेसी का चार्ज लगाया गया था। साथ ही पुलिस ने जो सबूत कोर्ट में पेश किए वो भी काफी हैरान करने वाला है।

बताया जा रहा है कि फदी मोबाइल में स्टार वार नाम का वीडियो गेम था, जिसे पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में आतंकी साजिश का वीडियो बताया। फदी फदल को जेल से बाहर निकालने में मदद की पटना की रहने वाली वकील शमा सिन्हा ने। शमा के मुताबिक फदी फदल को जेल में डालकर बिहार पुलिस पहले ही गलती कर चुकी थी, फिर उस गलती को छिपाने के लिए गलती पर गलती कर रही थी।