पटना सेक्स रैकेट केस में फरार निखिल प्रियदर्शी उत्तराखंड से गिरफ्तार

पटना (14 मार्च): बिहार में पूर्व मंत्री की बेटी के यौन शोषण मामले में आरोपी ऑटोमोबाइल कारोबारी निखिल प्रियदर्शी को उत्तराखंड से गिरफ्तार कर लिया गया है। निखिल के फोन/ईमेल लोकेशन को ट्रैक करके पटना पुलिस ने ये बड़ी कामयाबी हासिल की है। निखिल को गिरफ्तार कर पटना लाया जा रहा है।ढाई महीने से था फरार...बता दें कि निखिल के खिलाफ प्रिया ने 22 दिसंबर 2016 को एससी\एसटी थाने में यौन शोषण का का मामला दर्ज कराया था। आरोपियों में भाई मनीष प्रियदर्शी भी शामिल था, जिसे पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। निखिल से गपियाने वाले तीन खास दोस्त भी शनिवार को पकड़े गए थे। चूंकि मामला कमजोर वर्ग में दर्ज था, इसीलिए पटना पुलिस को पहले इससे दूर रखा गया। पुलिस निखिल को खोजती रही, मगर हर बार वह चकमा देकर फरार हो जाता।करीब एक हफ्ते पहले पटना के बुद्धा कॉलोनी थाने में पीड़ित ने पहचान सार्वजनिक करने का मामला दर्ज कराया था। अब मामला पटना पुलिस का था। एसएसपी मनु महाराज ने तीन टीमें कमजोर वर्ग की SIT की मदद के लिए गठित की। पहले भाई समेत उसके तीन दोस्तों को गिरफ्तार किया। फिर उन्हीं से पूछताछ से मिली इनपुट्स के आधार पर निखिल का लोकेशन ट्रैक करके उत्तराखंड से गिरफ्तार कर लिया। पटना पुलिस की टीम में एसआईटी की टीम भी शामिल थी। निखिल के साथ उसके पिता जो खुद एक पूर्व आईएएस है, उन्हें भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। साथ में निखिल की लक्जरी कार को भी पुलिस ने जब्त किया है।गिरफ्तार दोस्तों से मिली जानकारियां भी काम आई। गिरफ्तारी के बाद पुलिस की टीम ने उत्तराखंड में ही पूछताछ शुरु कर दी है। फरारी में ठिकाना देने वालों और संपर्क में रहने वालों के बारे में अहम सुराग मिले हैं, जिनके आधार पर आगे की पुलिस कार्रवाई होगी।