बिहार: पुलिस और जुआरियों में भिड़ंत, फायरिंग में 1 की मौत

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (5 नवंबर): लगता है बिहार में सुशासन नहीं बल्कि कुशासन का राज है। यहां पुलिसवाले तक महफूज नहीं है। राज्य में अपराधियों के हौसले का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि राजधानी पटना में जुआरियों पुलिस को ही बंधक बना लिया। दरअसल बीती रात पटना के बेउर थाना इलाके में पुलिस ने जुआ अड्डा पर छापेमारी के लिए पुहंची, लेकिन जुआरियों ने घेरकर उनपर पथराव कर दिया। चारों ओर से पथराव के बीच घिर चुकी पुलिसकर्मियों को बचने के लिए फायरिंग करनी पड़ी। इस फायरिंग में चिंटू नाम के एक युवक की मौत हो गयी। जबकि, दो अन्य लोग भी घायल हो गये। वहीं इस दौरान एक पुलिसकर्मी त्रिशूल पांडेय भी बुरी तरह जख्मी हो गये। सभी घायलों को पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है, जहां घायल एएसआई त्रिशूल पांडेय की हालत चिंताजनक बताई जा रही है।पटना पुलिस के मुताबिक रविवार रात पुलिस को सूचना मिली थी कि एतवारपुर गांव में कुछ लोग शराब के नशे में जुआ खेल रहे हैं। इसीक्रम पुलिस गांव में छापेमारी करने पहुंची। लेकिन पुलिस को देखते ही उन लोगों ने पथराव शुरू कर दिया और पुलिस से सर्विस रिवाल्वर लूटने की भी कोशिश की। जिसके बाद पुलिसकर्मियों को आत्मरक्षा में गोली चलानी पड़ी। इस फायरिंग में एक ग्रामीण की मौत हो गई और दो घायल हो गए।हालांकि इलाके के लोगों का कहना है कि पैसे नहीं देने पर पुलिसकर्मी फायरिंग करने लगे जिससे एक युवक की मौत हो गई और चार लोग घायल हो गए। इस घटना के बाद मृतक के परिजनों ने जमकर विरोध-प्रर्दशन किया। गांव में बिगड़ी स्थिति को देखकर पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। वहीं, ग्रामीण एसएसपी मनु महाराज को बुलाने की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि पुलिश गश्ती के बहाने के पैसों की वसूली करती है।