नीतीश ने किसानों को दी 'फसल सहायता योजना' की सौगात

नई दिल्ली (7 जून): 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर सत्ता के गलियारों में साफतौर से सुगबुगाहट दिखाई देने लगी है। इसका अंदाजा इस चीज से लगाया जा सकता है कि एक बाद एक सभी राजनैतिक दल देश के किसानों को लुभाते हुए दिखाई दे रहे हैं। पहले केंद्र ने गन्ना किसानों के लिए बड़ी राहत देते हुए उनका बकाया का भुगतान करने का ऐलान किया, वहीं अब बिहार ने मौसम की मार से परेशान किसानों के हित के लिए राज्य 'फसल सहायता योजना' की शुरुआत कर दी है।आपको बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी राज्य 'फसल सहायता योजना' से मौसम की मार की वजह से फसल नुकसान का सामना करने वाले बिहार के लाखों किसानों को फायदा मिलेगा। इससे पहले राज्य में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना चल रही थी, लेकिन उसमें किसानों को ज्यादा मुआवजा नहीं मिलता था।गौरतलब है कि राज्य सरकार ने किसानों के लिए 'समावेशी फसल सहायता योजना' के नाम से एक विशेष फसल बीमा योजना भी शुरू की है। इस योजना के लागू होने के बाद प्रदेश में पहले से जो भी फसल बीमा योजनाएं चल रही थीं, उसकी जगह इस नई योजना की शुरुआत की गई है।राजनैतिक जानकारों की मानें तो हाल में हुए उपचुनाव में हार के बाद अपना जनाधार बचाए रखने की कोशिशों में जुटी नीतीश सरकार की ओर से इसे बड़ा दांव माना जा रहा है। वहीं केंद्र ने भी गन्ना किसानों के लिए 8,500 करोड़ रुपये के बेलआउट पैकेज देने की योजना पर अपनी मंजूरी दे दी है।बहराल, एक बात तो साफ है सभी राजनैतिक दल 2019 के चुनावों को लेकर देश के किसानों, युवाओं, महिलाओं के हित जैसे मुद्दे पर बड़े ही सजग दिखाई दे रहे हैं। इतना ही नहीं एक के बाद एक लोकलुभावन योजनाएं लाई जा रही हैं। जिससे 2019 में इसका फायदा उठा सके।