बोले नीतीश कुमार, कम्युनल पॉलिटिक्स बर्दाश्त नहीं

नई दिल्ली ( 20 मार्च ): बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी मंत्रियों के बयान पर कड़ा ऐतराज जताया है। साथ ही उन्होंने बिहार को स्पेशल स्टेटस देने की मांग को फिर दोहराया है। सोमवार को जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बातचीत में नीतीश ने कहा कि वह किसी भी गठबंधन के साथ रहें, लेकिन उनकी मूल अवधारणा में बदलाव नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि वह भ्रष्टाचार और समाज को तोड़ने-बांटने वाली नीति से समझौता नहीं कर सकते।

इशारों-इशारों में ही उन्होंने पिछले दिनों के केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के भड़काऊ बयान पर ऐतराज जताया। नीतीश कुमार ने रामविलास पासवान के उस बयान का भी समर्थन किया, जिसमें उन्होंने बीजेपी से दलित और अल्पसंख्यकों के हित के लिए गंभीरता से सोचने के लिए कहा था। नीतीश का बदला अंदाज बीजेपी के लिए बड़ी चिंता की बात है। वह पहले से ही सहयोगियों से नाराजगी झेल रही है। 

वहीं पार्टी के सीनियर नेता केसी त्यागी की ओर से स्पेशल स्टेटस का मुद्दा उठाए जाने पर नीतीश ने कहा कि यह बिहार का हक है और उसे यह मिलना चाहिए। आरजेडी से गठबंधन तोड़ने के बाद नीतीश कुमार ने बीजेपी के प्रति पहली बार अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोला। हालांकि उन्होंने गठबंधन को किसी प्रकार का खतरा होने से इंकार किया।