Blog single photo

नीतीश कुमार ने फिर उठाया विशेष राज्य का मुद्दा

केन्द्र सरकार के साथ नीतीश कुमार के रिश्तों में आ रही खींचतान अपने चरम पर है। विशेष राज्य के दर्जे को नीतीश कुमार ने एक बार फिर जोरदारी से उछाल दिया है।

नई दिल्ली (29 मई): केन्द्र सरकार के साथ नीतीश कुमार के रिश्तों में आ रही खींचतान अपने चरम पर है। विशेष राज्य के दर्जे को नीतीश कुमार ने एक बार फिर जोरदारी से उछाल दिया है। उन्होंने वित्त आयोग पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है कि बिहार एवं पिछड़े राज्यों की विशेष आवश्यकताओं को एक अलग दृष्टिकोण से देखे वित्त आयोग। हाल ही में उन्होने नोटबंदी के विरोध में बयान दिया था अब खबर आ रही है कि एक देश, एक चुनाव' के आइडिया पर भी असहमत हैं। उन्होंने केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर नाराजगी भरा ट्वीट भी किया है।

खबर है कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने पर जेडीयू आंदोलन की रूपरेखा तैयार कर रही है। इस मुद्दे पर पासवान और कुशवाहा नीतीश के साथ हैं। नीतीश कुमार चाहते हैं कि मोदी सरकार डबल इंजन के वादे को निभाए। विशेष राज्य का दर्जा एक बड़ा मुद्दा है। नीतीश अब इस पर जोर दे रहे हैं। हर मंच से नीतीश और उनकी पार्टी के नेता इस मुद्दे को उठा रहे हैं। बैंकों के रवैये पर नीतीश शुरू से उंगली उठाते आए हैं। बिहार में क्रेडिट-डिपोजिट अनुपात महज 38 फीसदी है।नीतीश बार-बार नाराजगी जताते आए हैं कि बैंक बिहार में लोन क्यों नहीं देना चाहते। उन्होंने यहां तक आरोप लगाया है कि बिहार के लोगों के जमा पैसे का इस्तेमाल दूसरे राज्यों में लोन देने के लिए हो रहा है।

NEXT STORY
Top