बिहार में फिर खुली सुशासन की पोल, नालंदा में पत्रकार के बेटे की बेरहमी से हत्या


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 अप्रैल): बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों घूम-घूमकर सुशासन के नाम पर राज्य भर में वोट मांग रहे हैं, लेकिन राज्य में सुशासन के उनके दावे की पोल उनके गृह राज्य नालंदा में ही खुल गई है। मुख्यमंत्री नितीश कुमार के गृह जिला नालंदा में एक वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष कुमार आर्य के 16 वर्षीय पुत्र अश्विनी कुमार उर्फ चुन्नु  बेटे की बेरहमी से हत्या कर दी गई। पीड़ित को मारने से पहले आरोपियों ने उसके साथ बड़ी ही बेरहमी की। यहां तक उसकी पहले उसका आंख फोड़कर अंधा कर दिया फिर उसकी हत्या की। पुलिस अधीक्षक (एसपी) नालंदा नीलेश कुमार ने बताया, ‘उसकी आंखों से खून बह रहा है। इसके अलावा शरीर पर कोई चोट नहीं दिख रही है। मौत का कारण पोस्टमार्टम के बाद पता चलेगा। जांच जारी है।’

पूरा मामला नालंदा जिले के हरनौत थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव का है। समीप बदमाशों ने एक किशोर की आंखें फोड़ कर हत्या कर दी। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने मृतक के शव को हसनपुर के समीप एक तालाब से बरामद कर लिया है। मृत किशोर बिहारशरीफ के वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष कुमार आर्य का 16 वर्षीय पुत्र चुन्नू कुमार था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शव देखने से प्रतीत हो रहा है कि युवक की दोनों आंखें फूटी हुई हैं। ऐसे में आशंका है कि बदमाशों ने किशोर की बेरहमी से हत्या के बाद उसके दोनों आंख को फोड़ दिया है।

घटना के बारे में बताया जाता है कि आशुतोष कुमार आर्य का 16 वर्षीय पुत्र अश्विनी कुमार उर्फ चुन्नु जो कि परिवार के साथ हरनौत में रहता था दोपहर बाद घर से खेलने के लिए निकला था. उसके बाद से वो लापता हो गया। शाम को परिजन खोजने निकले तो गड्ढे में उसकी लाश मिली। लाश मिलते ही गांव में कोहराम मच गया। किशोर की आंखें फोड़ने के बाद उसकी हत्या की गई है। घटना की खबर मिलते ही नालंदा जिला के पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गई. नालंदा जिला पत्रकार संघ के अध्यक्ष ने पुलिस प्रशासन से बदमाशों पर त्वरित कार्रवाई की मांग की है।