बिहार: अस्पताल से नहीं मिला एंबुलेंस, बेटे से शव को कंधे पर उठा कर ले जाने को मजबूर हुआ पिता

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 जून):  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा में सरकारी अस्पताल से बड़ी लापरवाही सामने आयी है। आरोप है कि जिले के सदर अस्पताल में एक बच्चे की मौत होने पर शव ले जाने के लिए अस्पताल द्वारा एंबुलेंस मुहैया नहीं करवाया गया। इसके बाद पिता कथित तौर पर सात वर्षीय बेटे का शव कंधे पर लाद ले गए। इस घटना पर संज्ञान लेते हुए नालंदा जिले के जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने कहा, “इस मामले को लेकर जांच की जाएगी। यदि किसी तरह की लापरवाही सामने आती है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नालंदा जिले के परवलपुर का रहने वाला बच्चा साइकिल चलाते हुए अचानक बेहोश हो गया था। बुखार और पेट में दर्द की शिकायत के बाद बच्चे पहले एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। यहां स्थिति नियंत्रित नहीं होने पर बिहारशरीफ स्थित सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। अस्पताल में डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

बच्चे की मौत के बाद अस्पताल प्रशासन की ओर से शव ले जाने के लिए वाहन उपलब्ध नहीं करवाया गया। मजबूरन पिता को बेटे का शव कंधे पर लादकर बाइक से घर ले जाना पड़ा। यह घटना उस समय में सामने आयी है जब बिहार के मुजफ्फरपुर सहित अन्य जिलों में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम की वजह से 150 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई। सरकारी अस्पतालों की स्थिति और वहां के संसाधनों को लेकर सवाल खड़े गए।