गुंजन खेमका मर्डर: 6 महीने से मिल रही थीं धमकियां, पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई


अमिताभ ओझा, न्यूज 24, पटना (20 दिसंबर): बिहार में अपराधियों के हैसले सातवें आसमान पर है। पटना से सटे हाजीपुर में हथियारबंद बदमाशों कारोबारी और नामचीन निजी अस्पताल के मालिक गुंजन खेमका की गोली मारकर हत्या कर दी। इस वारदात में गुंजन खेमका का ड्राइवर भी बुरी तरह जख्मी हो गया है। बताया जा रहा है कि हत्या की इस वारदात में AK-47  का इस्तेमाल हुआ है। फिलहाल पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है। 


गुंजन खेमका को पिछले 6 महीने से फोन पर धमकियां मिल रही थी।सिर्फ गुंजन ही नही बल्कि उनकी पत्नी के मोबाइल पर भी धमकियां मिल रही थी।इस बाबत पटना के गांधी मैदान थाना में सनहा भी दर्ज किया गया था, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नही की।


बताया जा रहा है कि बाइक सवार बदमाशों ने वारदात को उस वक्त अंजाम दिया जब वो पटना से अपनी फैक्ट्री में जा रहे थे। गुंजन खेमका की कार पर बीजेपी का झंडा भी लगा हुआ था। इस गोलीबारी से गुजन खेमका की कार का शीशा भी चकनाचूर हो गया। कार के दरवाजे पर भी गोलियों के निशान मिले हैं। यह कोई पहला हमला नहीं है जब गुंजन खेमका पर हमला हुआ हो। इससे पहले भी उन पर हमला हो चुका था। लेकिन इस हमले से पहले हुए हमले में वह बाल-बाल बच गए थे।



आपको बता दें कि गुंजन खेमका और उनके पिता की गिनती बिहार के बड़े कारोबारियों में होती है। इनका अस्पताल से साथ-साथ कई फैक्ट्री भी है। गुंजन खेमका की हत्या में बताया जा रहा है कि बदमाशों ने ऑटोमैटिक और अत्याधुनिक हथियार का इस्तेमाल किया है। लेकिन इस बात की कोई पुष्टि नहीं हो पाई है।