50 से ज्यादा उम्र वाले टीचरों को जबरन रिटायर करेगी नीतीश सरकार


अमिताभ ओझा, पटना (5 अगस्त):
बिहार में नीतीश सरकार ने फरमान जारी किया है कि जिन स्कूलों का रिजल्ट खराब रहा है, वहां के टीचरों को 50 की उम्र में जबरन रिटायर किया जाएगा। साथ ही स्कूलों की साफ-सफाई की जिम्मेदारी छात्रों को सौंप दी है। इन दोनों ही फैसलों पर अब सवाल उठ रहे हैं।

बिहार में शिक्षा का हाल किसी से छुपा नहीं है, लेकिन सरकार ने शिक्षा की इन तस्वीरों को बदलने का फैसला ले लिया है। शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव के लिए सरकार ने दो बड़े आदेश जारी किए हैं, जिनपर विवाद भी शुरू हो गया है।

सरकार का पहला आदेश-
- स्कूलों में शौचालय और साफ-सफाई का जिम्मा छात्रों को सौंपा गया है यानी छात्र अब पढ़ाई के साथ-साथ स्कूलों की साफ-सफाई भी करेंगे। लेकिन सवाल ये है कि छात्र अगर स्कूल की सफाई करेंगे तो पढ़ाई कब करेंगे।

सरकार का दूसरा आदेश-
- जिन स्कूलों में मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट खराब आया है, वहां 50 से ज्यादा उम्र के टीचरों को जबरन रिटायर कर दिया जाएगा। नीतीश सरकार के इन दोनों ही फैसलों पर सवाल उठ रहे हैं। लोग इन आदेशों को तुगलगी फरमान बता रहे हैं।