बिहार टॉपर्स घोटाले का मुख्य आरोपी बच्चा यादव गिरफ्तार

हाजीपुर (11 जून): बिहार टॉपर्स घोटाले का मुख्य आरोपी बच्चा यादव को एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है। बच्चा यादव को पुलिस ने हाजीपुर से विशुन देव कॉलेज के पास से गिरफ्तार किया। टॉपर्स घोटाला सामने आने के बाद से बच्चा यादव अंडरग्राउंड हो गया था और पुलिस उसे दबोचने के लिए हाजीपुर से लेकर पटना के विभिन्न स्थानों पर छापेमारी कर रही थी लेकिन आज बच्चा यादव गिरफ्तार हुआ। बच्चा यादव के गिरफ्तार होने के बाद मेरिट घोटाले से जुड़े और लोगों के नाम सामने आ सकते हैं।

क्या है मामला? इंटर आर्ट्स और साइंस के रिजल्ट में वैशाली के भागलपुर के BR कॉलेज के स्टूडेंट सौरभ श्रेष्ठ, राहुल कुमार और रूबी राय ने टॉप किया था। एक टीवी चैनल ने साइंस टॉपर सौरभ और आर्ट्स टॉपर रूबी राय का स्टिंग किया था। वीडियो फुटेज में रूबी राय पॉलिटिकल साइंस को प्रोडिकल साइंस कहती हुई सुनी गई थी। सौरभ को साइंस का बेसिक नॉलेज तक नहीं था।

इसके बाद बिहार बोर्ड ने 3 जून को 1 से 5 रैंक तक टॉप किए स्टूडेंट्स को इंटरव्यू के लिए बुलाया था। रूबी राय इस इंटरव्यू में नहीं आई थीं। वहीं, सौरभ ने इंटरव्यू के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा था कि सवाल नहीं पूछिए, सुसाइड कर लूंगा।

कौन है बच्चा राय यादव अमित कुमार उर्फ बच्चा राय बीआर कॉलेज का प्रिंसिपल है। इंटर आर्ट्स और साइंस के रिजल्ट में इस कॉलेज के कई स्टूडेंट टॉप करते आए थे। बच्चा राय पर आरोप है कि वह पैसे लेकर स्टूडेंट्स को टॉपर बनाता था। रिजल्ट में गड़बड़ी करने के लिए बच्चा राय ने पूर्व बोर्ड प्रेसिडेंट लालकेश्वर प्रसाद और अन्य ऑफिसरों से मिलीभगत कर रही थी।