VIDEO: अपराधियों के आगे गिड़गिड़ाए बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 सितंबर): पिछले कई महीनों से बिहार में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। यहां हत्या, लूट, अपहरण एकबार फिर आम हो गया है। अपराधियों के सामने राज्य में सुशासन का दावा करने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राज्य प्रशासान लाचार नजर आ रहा है। राज्य में अपराधियों के हौसले का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मुख्यमंत्री अपराधियों से हाथ जोड़कर विनती कर रहे हैं। आपको बता दें कि पितृपक्ष मेले के दौरान गया में डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने हाथ जोड़कर अपराधियों से विनती करते दिखे थे। उन्होंने कहा कि भाषण के दौरान हाथ जोड़कर कहा कि रोज तो आप लोग अपराध करते ही हैं। कम से कम पितृपक्ष के दौरान तो रूक जाइए।

सुशील मोदी के इस बयान के बाद राज्य में सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने ट्वीट कर नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर निशाना साधा है।

लालू यादव ने अपने ट्वीट में लिखा है कि हाथ-गोड़ कुछउ जोड़, अपराधियों के चरण धोकर उनका चरणामृत भी पी लों, अरे शर्म करों, क्रिमिनल्स के आगे मिमियाने और गिड़गिड़ाने से नहीं, शासन रौब से चलता है। साथ ही लालू यादव ने डिप्टी सीएम को चोर दरवाजे से आया हुआ नेता करार दिया है। सुशील मोदी पर तंज कसते हुए लालू प्रसाद ने लिखा है कि तोहार लोगन के इक़बाल खत्म बा, चोर दरवाज़े से राज-काज में घुसल है ना, सो दुनो में नैतिक बल अउर आत्मविश्वास की कमी रहल।आपको बात दें कि बिहार में बीते 3 दिन में अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों के 3 नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या से हड़कंप मच गया है। सरेआम हुई इन हत्याओं से पुलिस विभाग की नींद उड़ गई है। इनमें सबसे ज्यादा चर्चित मुजफ्फरपुर के पूर्व मेयर समीर कुमार की हत्या है। रविवार देर शाम एके 47 ऑटोमैटिक हथियारों से लैस दो बाइक सवार अपराधियों ने उनके साथ उनके ड्राइवर की भी गोली मारकर हत्या कर दी थी। समीर कुमार की हत्या से कुछ घंटे पहले पड़ोस के जिले समस्तीपुर में एक बीजेपी कार्यकर्ता सुनील कुमार की हत्या कर दी गई।जबकि शुक्रवार को, पटना के कोतवाला थाना क्षेत्र में तबरेज आलम उर्फ फिरोज की हत्या कर दी गई। तबरेज ने पूर्व में समाजवादी पार्टी के टिकट पर जहानाबाद से चुनाव लड़ने का दावा किया था। वो जेल में बंद सीवान के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के शूटर के तौर पर भी काम कर चुका है।