JDU-RJD तकरार: नीतीश कुमार के पास है ये विकल्प

पटना (14 जुलाई): आरजेडी सुप्रीमो लालू और उनके परिवारवालों पर CBI, ED और इनकम टैक्स के शिकंजे के बाद बिहार में लालू-नीतीश की दोस्ती पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। राज्य में महागबंधन टूट की कगार पर है। अपनी मिस्टर क्लीन की छवि को बचाए रखने के लिए नीतीश कुमार तेजस्वी यादव से किसी भी सूरत में इस्तीफा चाहते हैं। लेकिन राज्य में 80 विधायकों के सबसे बड़ी पार्टी होने की वजह से आरजेडी सुप्रीमों को ये मंजूर नहीं है।


वहीं जेडीयू लगातार आरजेडी पर एक के बाद एक हमला करती जा रही है। जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने तो आज आरजेडी सुप्रीमों से संपत्ति की खुलासे तक की मांग कर डाली। दोनों पार्टियों के आक्रमक तेवर के फिलहाल ये विवाद खत्म होता नहीं दिख रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि नीतीश कुमार पास अब क्या विकल्प बचते हैं।


अब क्या-क्या कर सकते हैं नीतीश कुमार..?

- JDU लगातार RJD पर दबाव बढ़ाने के लिए इस्तीफे की मांग करते रहे और तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर माहौल बनाए रखे, जिसकी शुरुआत हो चुकी है।


- नीतीश कुमार इस्तीफा देकर विधानसभा भंग कर दें। ऐसा वो पहले भी कर चुके है।


- नीतीश कुमार RJD और महागठबंधन से अलग होकर BJP के बाहरी समर्थन से सरकार चलाएं।  BJP नीतीश कुमार को बाहर से समर्थन देने का पहले ही ऐलान कर चुकी है।


- नीतीश कुमार इस्तीफा देकर BJP से गठबंधन कर चुनाव में चले जाएं ।


- नीतीश कुमार मध्यावधि चुनाव की स्थिति बनाएं और अकेले चुनाव में जाएं।


- नीतीश कुमार कांग्रेस को विश्वास में लेकर RJD के कुछ विधायकों को तोड़ लें और अपनी सरकार चलाएं।