JDU-RJD तकरार: लालू यादव के पास है ये विकल्प

पटना (14 जुलाई): बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर RJD और JDU आर-पार की लड़ाई की तैयारी करने लगी है। JDU की ओर से तेजस्वी यादव को मिला चार दिन का अल्टीमेटम पूरा होने में कुछ घंटे बचे हैं। ऐसे में दोनों पार्टियों की ओर से कमर कसी जा रही है। प्रवक्ता मनोज झा ने जहां RJD समेत महागठबंधन के नेताओं से अनर्गल बयानबाजी ना करने की सलाह दी है, वहीं JDU प्रवक्ताओं ने भी बैठक कर रणनीति तय कर रहे हैं।


RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद अभी रांची में हैं और वो शनिवार को पटना लौटेंगे। तब तक JDUकी ओर से दिया गया अल्टीमेटम का वक्त भी पूरा हो जायेगा। लेकिन दोनों पार्टियों में लगातार जारी तल्खी के बीच फिलहाल ये विवाद खत्म होता नहीं दिख रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि आरजेडी सुप्रीमो लालु यादव के पास अब क्या विकल्प बचे हैं।


लालू यादव के पास अब है ये विकल्प...

- तेजस्वी यादव से इस्तीफा दिलाकर तेज प्रताप या फिर अपने परिवार से किसी और को उपमुख्यमंत्री बना दें।


- तेजस्वी को इस्तीफा देकर अब्दुलबारी सिद्दीकी को उपमुख्यमंत्री बना दें, इससे उनका माई समीकरण एक बार फिर मजबूत हो सकता है और बिहार में महागठबंधन भी बरकरार रहेगा।


- JDU के दबाव के बाद तेजस्वी यादव के साथ-साथ सभी मंत्रियों का एक साथ इस्तीफा दिलवा दें और नीतीश सरकार को बाहर से सर्मथन का ऐलान कर दें।


- नीतीश कुमार के बर्खास्ती का इंतजार करें और फिर समर्थन वापस कर मध्यावर्ती चुनाव में जाए।


- कांग्रेस को विश्वास में लेकर लालू यादव वामदलों के साथ जोड़तोड़ कर सरकार बनाने की कोशिश करें।


- सोनिया गांधी और राहुल गांधी के जरिए नीतीश कुमार पर दबाव बनाए की JDU इस्तीफे की फिलहाल बात ना करे क्योंकि अभी केवल FIR हुआ है।