Blog single photo

नीतीश सरकार में नहीं रुक रहा अपराध

बिहार में अपराधी बेखौफ नजर आ रहा हैं। यहां अपराधियों में कानून व्यवस्था का कोई खौफ नहीं है। राज्य में लगातार अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। आलम ये है यहां सत्ताधारी पार्टी के नेता तक महफूज नहीं है

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (9 अक्टूबर): बिहार में अपराधी बेखौफ नजर आ रहा हैं। यहां अपराधियों में कानून व्यवस्था का कोई खौफ नहीं है। राज्य में लगातार अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। आलम ये है यहां सत्ताधारी पार्टी के नेता तक महफूज नहीं है। ताजा मामला छपरा का है। छपरा में बीजेपी नेता गंगोत्री प्रसाद के बेटे पीयूष आनंद की चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी गई।बताया जा रहा है कि पीयूष आनंद सदर अस्पताल में दवा वितरण केंद्र पर कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर तैनात थे। सोमवार रात वो मोटरसाइकिल से गड़खा थाना क्षेत्र के अलोनी गांव जा रहे थे तभी कुछ अपराधियों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया। अपराधियों को अपना पीछा करते देख पीयूष ने अपनी बाइक की रफ्तार बढ़ाई और भागने लगे लेकिन कुछ ही दूरी पर जाकर अपराधियों ने उन्हें पकड़ लिया और चाकुओं से गोदकर उनकी हत्या कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पीयूष आनंद की मौके पर ही मौत हो गई।पीयूष आनंद खुद पूर्व में बजरंग दल का सक्रिय सदस्य रहा है और वर्तमान में बीजेपी के व्यवसायिक प्रकोष्ठ से जुड़ा हुआ था। हत्या की जानकारी मिलने के बाद गड़खा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। पुलिस ने फिलहाल इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है और अपराधियों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी के लिए कोशिश में जुटी है। छपरा में हुई इस हत्या को लेकर आम लोगों ने खासा रोष है और लोगों ने आज शांतिपूर्ण तरीके से छपरा बंद का आह्वान किया है।गौरतलब है, 2 हफ्ते पहले मुजफ्फरपुर के पूर्व मेयर समीर कुमार की अपराधियों ने गोलियों से भून कर हत्या कर दी थी। जिसके बाद राज्य के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने गया में अपराधियों से हाथ जोड़कर अपील की थी कि पितृपक्ष में कम से कम ये काम न करें।

Tags :

NEXT STORY
Top