पीएम मोदी की तस्वीर पर जूते मरवाने वाले मंत्री ने मांगी माफी

नई दिल्ली(1 मार्च): बिहार की नीतीश कुमार सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता अब्दुल जलील मस्तान की पीएम मोदी के खिलाफ की गई विवादित टिप्पणी और उनकी तस्वीर पर जूते मरवाने के मामले को लेकर बीजेपी आक्रामक हो गई है।

- बिहार विधानसभा में इसे लेकर बुधवार को काफी हंगामा हुआ। हालांकि मंत्री ने इस मसले पर माफी भी मांग ली है और सीएम नीतीश ने भी मंत्री की टिप्पणी को गलत बताया है, पर बीजेपी मंत्री को बर्खास्त करने पर अड़ गई है।

- बीजेपी का कहना है कि मंत्री को बर्खास्त नहीं किया जाता है तो वह सदन नहीं चलने देगी।

- मंगलवार को नोटबंदी के विरोध को लेकर हुए एक प्रदर्शन में मंत्री अब्दुल जलील मस्तान ने पीएम मोदी की तस्वीर पर कार्यकर्ताओं से जूते मरवाए थे और उनके खिलाफ अपशब्द भी कहे थे। उन्होंने पीएम मोदी को 'डकैत' कहा था। हालांकि अब मंत्री सफाई में कह रहे हैं कि उन्होंने किसी से भी पीएम की तस्वीर पर जूता मारने के लिए नहीं कहा था। वह अपने बयान से भी मुकर गए। चूंकि उनका बयान विडियो में कैद था, ऐसे में मंत्री ने माफी मांगना ही बेहतर समझा। विधानसभा में बीजेपी के हंगामे के बाद उन्होंने कहा कि अगर किसी को उनके बयान से ठेस पहुंची है तो वह माफी मांगते हैं।

- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी मस्तान के बयान को गलत बताया है। साथ ही उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी कहा है कि जिम्मेदार पद पर बैठे नेता को ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। खुद कांग्रेस के बड़े नेता भी कह रहे हैं कि मंत्री को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती। लेकिन बीजेपी इस मसले पर आक्रामक है और उसने साफ कर दिया है कि मंत्री की बर्सास्तगी से कम उसे कुछ मंजूर नहीं है।

- बता दें कि अब्दुल जलील मस्तान कांग्रेस के कोटे से नीतीश सरकार में आबकारी मंत्री हैं। मंगलवार को उनका एक विडियो सामने आया था जिसे लेकर यह पूरा विवाद खड़ा हुआ। इस विडियो में मंत्री नोटबंदी के विरोध में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भीड़ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर पर जूते मारने को कहते नजर आए थे। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल भी किया था।