इराक में साल का सबसे बड़ा फिदायीन हमला, 80 मरे, एक सरकारी अफसर पर संदेह

 

नई दिल्ली (18 मई): इराक की राजधानी बगदाद में बीते रोज हुए तीन बम धमाकों में मरने वालों की संख्या 80 हो गयी है। जबकि लगभग 150 लोग घायल हुए हैं। सरकार ने एक अपने ही एक बड़े सुरक्षा अधिकारी को इन धमाकों की साजिश में शामिल होने सरकार को गिराने की साजिश में गिरफ्तार कर लिया है।   सरकारी सूत्रों ने मिली जानकारी के अनुसार इस साल बगदाद में हुआ अब तक का सबसे बडा़ हमला है।

पहले आत्मघाती धमाके में 41 लोगों की मौत हुई तथा 70 से अधिक लोग घायल हुए। सदर सिटी के पास दूसरा धमाका हुआ, जिसमें कार विस्फोट में कम से कम 30 लोग मारे गये तथा 57 लोग घायल हो गये। तीसरे हमले में भी लगभग 10 लोगों के मारे जाने की खबर है। आईएसआईएस ने इन तीनों हमलों के बाद धमकी दी है अमेरिकियों को मदद देने वालों के साथ ऐसा ही होगा। ईराक के शिया धर्मगुरु मोक्तदा अल-सदर ने कहा कि उनके सैकड़ों भरोसेमंद लड़ाकों को सदर सिटी एवं पाँच अन्य प्रमुख शिया बहुल इलाकों में तैनात किया गया है।

इन हमलों के बाद प्रधानमंत्री हैदर अल-आब्दी ने अल-शाब में तैनात के एक बड़े अफसर को गिरफ्तार करने का आदेश दिया गया है। समझा जा रहा है कि कुछ अधिकारी हैदर अल -आब्दी की सरकार को गिराने के लिए और जनता में सरकार की छवि गिराने के लिए आईएसआईएस के साथ मिल कर धमाके करवा रहे हैं। अल-शाब में गिरफ्तार किये अफसर के खिलाफ भी कुछ ऐसे ही सुबूत मिले हैं।