अधिकारियों के ठिकानों पर IT का छापा: नई करंसी में 5.7 करोड़ रु. की सबसे बड़ी जब्ती

नई दिल्ली(3 दिसंबर): इनकम टैक्स अधिकारियों ने कर्नाटक में दो सरकारी अफसरों और दो कॉन्ट्रैक्टर्स के ठिकानों पर छापा मारा। यहां से 152 करोड़ की बेहिसाबी संपत्ति का पता चला है। बता दें कि इन छापों में मिली नई करंसी का आंकड़ा 5.7 करोड़ हो गया। 

- IT अफसरों के मुताबिक शुक्रवार को मारे गए छापे में अब तक की सबसे ज्यादा बेहिसाबी नई करंसी मिली है। नई करंसी 2000 के नए नोटों की शक्ल में है।

- सीनियर IT अफसर ने कहा, "छापे में मिली 5.7 करोड़ की नई करंसी नोटबंदी के बाद मिली अब तक की सबसे ज्यादा बेहिसाबी संपत्ति है।"

- कर्नाटक के बेंगलुरु और तमिलनाडु के चेन्नई, इरोड में कई ठिकानों पर मारे गए छापे मारे गए। 152 करोड़ की बेहिसाबी संपत्ति का पता चला। इन्वेस्टिगेशन जारी है।

- IT सूत्रों के मुताबिक PWD के हाई-वे डेवलेपमेंट प्रोजेक्ट में चीफ प्लानिंग अफसर एससी जयचंद्र और कावेरी नारीवेरी निगम लि. के मैनेजिंग डायरेक्टर टीएन चिक्कारायप्पा के अलावा दो कॉन्ट्रैक्टर्स के कई ठिकानों पर छापे मारे गए।

7 किलो सोना और ज्वेलरी भी मिली

- IT अफसरों ने बताया, "छापे में 7 किलो सोना और ज्वेलरी जो कि करीब 9 किलोग्राम है, वो भी बरामद हुई।"

- जयचंद्र के बेटे त्रिजेश के घर से पोर्श और लैम्बोर्गिनी जैसी कारें, 7 किलो गोल्ड और 2 करोड़ रुपये भी मिले।

- CTBT ने कहा, "ऐसा पता चला है कि पुराने नोट एक्सचेंज करने के बाद इन अफसरों ने गोल्ड और नई करंसी हासिल की है।"

- प्रॉपर्टी के कुछ डॉक्युमेंट भी बरामद किए गए हैं। IT डिपार्टमेंट की इन्वेस्टिगेशन अभी जारी है।  

अब क्या कर रहा है IT डिपार्टमेंट

- IT डिपार्टमेंट के सूत्रों के मुताबिक, "लगातार कैश ट्रांजेक्शन करने वाले 4 बैंकों को भी नोटिस दिया गया है।"

- इसके अलावा तमिलनाडु के IAS और IPS अफसरों को भी तलब किया गया है।

- रेड ऑपरेशन को 50 लोगों की टीम ने अंजाम दिया, इसमें IT डिपार्टमेंट के अफसर और पुलिसवाले शामिल थे।

डॉक्टर के पास मिले थे 10 लाख के नए नोट

- दो दिन पहले प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कोलकाता के एक डॉक्टर के घर छापा मारा था। यहां से 10 लाख की बेहिसाबी संपत्ति 2000 के नए नोटों की शक्ल में मिली थी।

- इसके अलावा शुक्रवार को ED ने देशभर में 40 जगहों पर सर्च ऑपरेशन चलाया, यहां से 1 करोड़ रुपये के नए नोट जब्त किए गए हैं।