किसने यूपी विधानसभा में रखा था विस्फोटक? सीएम योगी के इशारे से उठे ये बड़े सवाल

नई दिल्ली (14 जुलाई): उत्तर प्रदेश विधानसभा की सुरक्षा में भारी चूक सामने आई है। बुधवार को यहां मानसून सत्र के दौरान 60 ग्राम संद‌िग्ध पाउडर म‌िला। विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। यह विस्फोटक बुधवार को सुबह जांच के दौरान मिला था, जिसके बाद फॉरेंसिक जांच में इस बात की पुष्टि की गई है कि ये PETN विस्फोटक था। सुरक्षा पर उठे सवालों का जवाब देते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में इसके पीछे किसी साजिश की ओर इशारा किया। योगी आदित्यनाथ ने साफ तौर पर कहा कि आखिर विधानसभा में विस्फोटक कैसे आया। लेकिन इतने सुरक्षा वाले जगह पर खतरनाक विस्फोटक कैसे पहुंचा इसको लेकर पांच सवाल खड़े हो रहे हैं।

-विधानसभा जैसे संवेदनशील और अति महत्वपूर्ण जगह पर विस्फोटक कैसे पहुंचा?

-आखिर PENT जैसे खतरनाक विस्फोटक को पकड़ने का इंतजाम विधानसभा में क्यों नहीं है?

-जब कोई बाहरी व्यक्ति सदन में नहीं जा सकता तो विधानसभा के अंदर कैसे पहुंचा विस्फोटक?

-जानबूझकर बजट के दिन विस्फोट कराने की साजिश की गई थी?

-क्या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को निशाना बनाने के लिए रखा गया था विस्फोटक?

योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में बोलते हुए कहा कि स्थिति की गंभीरता को देखते हुए किसी एक व्यक्ति विशेष के लिए सुरक्षा में कोई छूट नहीं दे सकते हैं। इस विस्फोटक का सामान्य रूप से पता नहीं लग सकता है। सीएम योगी ने कहा कि अगर हम एयरपोर्ट में भी जाते हैं तो जांच करवानी पड़ती है। इसलिए सदन में भी आने पर हर किसी की सुरक्षा होनी चाहिए, इस सुरक्षा में सेंध लगाने वाले कौन हैं इसकी जांच होनी चाहिए। जो भी इसके पीछे हैं उनकी जांच होनी चाहिए।

विधानसभा की सुरक्षा में हुई चूक पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है। वहीं मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने कहा क‌ि डरने की जरूरत नहीं है। विधानसभा की सुरक्षा पुख्ता है। सीएम ने सुरक्षा को लेकर रूटीन रिव्यू मीट‌िंग बुलाई है।