JDU में शामिल हुए अशोक चौधरी, बोले- अभी कांग्रेस के और भी विधायक आयेंगे

पटना (28 फरवरी): बिहार में एक बार फिर से राजनीतिक हलचल देखने को मिल रही है। विधान परिषद में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशोक चौधरी के नेतृत्व में चार विधान पार्षदों ने उपसभापति हारुण रशीद को पत्र लिखकर अलग गुट के तौर पर मान्यता देने का अनुरोध किया है। उधर, बुधवार की रात अपने आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अशोक चौधरी ने कांग्रेस छोड़ने की घोषणा की। साथ ही कहा कि उनके साथ तीन और विधान पार्षद नीतीश की अगुवाई वाले जदयू का दामन थामेंगे। वहीं, इस दौरान कांग्रेस ने इन चारों विधान पार्षदों को पार्टी से निकालने का ऐलान किया।

डॉ. अशोक चौधरी ने न्यूज 24 से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस में वैसे लोगों को सम्मानित किया गया जिनका कोई नाम नहीं है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया और कहा कि उन्हें स्टार प्रचारकों की लिस्ट से भी बाहर रखा गया और हमें बैठक में भी अपमानित किया गया। 

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि वह पार्टी को अलविदा कह रहे हैं और नीतीश कुमार का दामन थाम रहे है। उन्होंने कहा की नीतीश कुमार बिहार के सबसे बेहतरीन सीएम रहे हैं और इतने समय के बाद भी उनपर कोई आरोप नहीं लगा है। कांग्रेस पर निशासा साधते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा से अध्यक्ष का अपमान किया है, कांग्रेस को इस बार पर विचार करना चाहिए कि आखिर पार्टी क्यों सिमट रही है। 

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी बहुत अच्छे आदमी है लेकिन वह चाटुकार लोगों से घिरे हैं और आने वाले समय में कांग्रेस से और भी विधायक पार्टी से अलग होंगे।