दस साल बाद अरब की जनसंख्या में होगा बड़ा बदलाव !

नई दिल्ली (22अप्रैल): महज दस साल बाद अरब में पैदा होने वाले 50 फीसदी से ज्यादा बच्चे विदेशी माताओँ की संतान होंगे। विदेशी महिलाओँ से शादी के बढ़ते चलन पर सऊदी अरब की फेडरल नेशनल काउंसिल ने चिंता व्यक्त की है। काउंसिल के एक सदस्य हमाद अहमद अल रहूमी ने कहा कि अरब देशों को मिल कर इस बात का कारण और निदान तुरंत ढूंढने होंगे।

हमाद ने यह भी कहा कि विदेशी मां से पैदा होने वाली मिश्रित संतानों से अरब की संस्कृति पर क्या प्रभाव हो सकते हैं। इस बात पर गहन चर्चा होनी चाहिए। हमाद ने सामुदायिक विकास मंत्री नजला मोहम्मद अल अवार से कहा है कि अरब के युवाओं को अरब की ही महिलाओं से शादी करने के लिए अलग से काउंसिलिंग भी शुरु करनी चाहिए। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि मिश्रित शादियों का एक मात्र कारण बदलती हुई लाइफ स्टाइल और विदेशों में एक्सपोज़र के बढ़ते अवसर हैं।