जेल से बाहर आकर राष्ट्रपति चुनाव में वोट डालेंगे भुजबल


नई दिल्ली(4 जुलाई): जेल में बंद महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री और वर्तमान एनसीपी विधायक छगन भुजबल राष्ट्रपति चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। 


- सरकारी वकील के विरोध के बावजूद विशेष अदालत ने भुजबल की अर्जी मंजूर कर ली। इसके साथ ही पिछले डेढ़ साल से आर्थिक घोटाले के आरोप में मुंबई की आर्थर रोड जेल की सलाखों के पीछे बंद भुजबल को पहली बार जेल से बाहर आने का मौका मिलेगा।


- भुजबल ने पिछले शुक्रवार को कोर्ट में अर्जी देकर गुहार लगाई की विधायक होने के नाते राष्ट्रपति चुनाव में वोट देना उनका अधिकार है, और उन्हें इसकी इजाजत दी जाए। 


- सोमवार को भुजबल की अर्जी पर कोर्ट ने सुनवाई की और उन्हें अपने मताधिकार का प्रयोग करने की इजाजत दे दी। इसके साथ ही 17 जुलाई को विधानभवन में होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव में भुजबल के वोट डालने जाने का रास्ता साफ हो गया।