भोपाल गैंगरेप: रेल SP अनिता मालवीय और IG योगेश चौधरी को हटाया

नई दिल्ली (5 नवंबर): भोपाल गैंगरेप मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है। 5 पुलिस अफसरों के निलंबन के बाद बड़े पुलिस अधिकारियों पर भी गाज गिर गई है। रविवार को अवकाश होने के बावजूद भोपाल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक योगेश चौधरी और रेल एसपी अनीता मालवीय को हटा दिया गया। चौधरी की जगह जबलपुर के महानिरीक्षक जयदीप प्रसाद को भोपाल रेंज का पुलिस महानिरीक्षक बनाया गया है। वहीं, मालवीय की जगह सहायक पुलिस महानिरीक्षक विशेष सशस्त्र बल रुचिवर्धन मिश्र पुलिस अधीक्षक रेल होंगी।

सूत्रों के मुताबिक छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में भोपाल के पुलिस प्रशासन को जिस तरह सक्रिय होना था, वैसे भोपाल रेंज के अधिकारी नहीं हुए। इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान काफी नाराज थे। उन्होंने इसे लेकर मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह, पुलिस महानिदेशक ऋषिकुमार शुक्ला सहित अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में हुई बैठक में न सिर्फ नाराजगी जताई थी, बल्कि जिम्मेदारों पर कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए थे। इसके मद्देनजर आईजी चौधरी को हटा दिया गया। उनकी जगह आने वाले जयदीप प्रसाद भोपाल में पुलिस अधीक्षक भी रह चुके हैं। 

रेल पुलिस अधीक्षक भोपाल अनीता मालवीय को गंभीर घटना पर ठहाके लगाना और हल्के में लेना भारी पड़ गया। सोशल मीडिया पर मालवीय की घटना को लेकर गैर जिम्मेदाराना तरीके से की जा रही बयानबाजी वायरल हो गई थी। इसे पुलिस मुख्यालय ने काफी गंभीरता से लिया और उन्हें हटा दिया। 

किसे कहां किया पदस्थ...

अधिकारी--मौजूदा और वर्तमान पदस्थापना

व्हीके सिंह--होमगार्ड महानिदेशक--अध्यक्ष पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन

महान भारत सागर--विशेष पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण--महानिदेशक होमगार्ड

एसएल थाउसेन--अति. पुलिस महानिदेशक अजाक--अति. पुलिस महानिदेशक विशेष सशस्त्र बल पुलिस मुख्यालय

प्रज्ञा ऋचा श्रीवास्तव--अति. पुलिस महानिदेशक चयन एवं भर्ती--अति. पुलिस महानिदेशक अजाक

डी. श्रीनिवास राव--अति. पुलिस महानिदेशक सतर्कता--अति.पुलिस महानिदेशक ईओडब्ल्यू

अनंत कुमार सिंह--पुलिस महानिरीक्षक विशेष सशस्त्र बल--पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन

तिवारी बने विशेष पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण

प्रदेश सरकार ने 1986 बैच के आईपीएस अफसर केएन तिवारी को महानिदेशक वेतनमान में पदोन्नत कर दिया है। तिवारी को विशेष पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण के पद पर पदस्थ किया गया है। इसके साथ ही उन्हें मानव अधिकारी सेल तथा शिकायत का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा गया है।